Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मनमाने ढंग से यश भारती बांटने पर याचिका दायर

 Sabahat Vijeta |  2016-12-19 14:16:38.0

Yash Bharti Award 2016
लखनऊ. पारदर्शिता के क्षेत्र में कार्यरत सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा तमाम लोगों को दिए जाने वाले यश भारती पुरस्कार के विरोध में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में याचिका दायर की है.


सेंटर की अधिवक्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने बताया कि सरकार प्रत्येक व्यक्ति को 11 लाख रुपये और भारी-भरकम मासिक पेंशन दे रही है लेकिन यह पुरस्कार पूरी तरह मनमाने ढंग से दिए जा रहे हैं.


डॉ. नूतन ने कहा कि इन पुरस्कारों के लिये किसी भी नियम का पालन नहीं किया जा रहा है और इन्हें केवल भाई-भतीजेवाद में दिया जा रहा है. अंतिम समय तक पुरस्कार पाने वालों की संख्या बढ़ाई जाती है और उन्हें मनमाने ढंग से चुना जा रहा है, जो स्पष्ट रूप से अनुचित कृत्य और शासकीय धन का दुरुपयोग है, जिसे कोर्ट में चुनौती दी गयी है. कोर्ट में प्रार्थना की गयी है कि एक रिटायर्ड हाई कोर्ट जज की अध्यक्षता में एक जाँच कमिटी बना कर वर्ष 2012-16 के बीच दिए गए सभी यश भारती पुरस्कारों की समीक्षा कराई जाए और गलत ढंग से पुरस्कार पाए लोगों से इसे वापस लिया जाए.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top