Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इस पापुलर वेबसाइट का बदल गया ठिकाना

 Girish |  2017-01-11 06:58:53.0


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली. इंटरनेट की दुनिया का बादशाह रहा याहू आने वाले दिनों में अलटाबा के नाम से जाना जाएगा. याहू का वेरिजॉन के साथ डील पूरी होने के बाद सीईओ मारिसा मेयर, सह-संस्थापक डेविड फिलो सहित 11 सदस्यीय बोर्ड में 4 अन्य लोग भी इस्तीफा देंगे. हालांकि याहू का Altaba Inc होने से पहले याहू अपने ईमेल, वेबसाइट, मोबाइल ऐप और एडवर्टाइजिंग टूल को Verizon पर ले जाएगी.

32 हजार करोड़ रुपये में बिकी Yahoo कंपनी


वेरिजॉन ने पिछले साल जुलाई में याहू के ईमेल, डिजिटल एडवरटाइजिंग और मीडिया कारोबार को 4.83 अरब डॉलर (करीब 325 अरब रुपये) में खरीदने का सौदा किया था. तब से सौदे को अंतिम रूप देने का काम चल रहा है.

बता दें कि याहू का अमेरिकी कंपनी वेरीजोन के साथ 32 हजार करोड़ का सौदा हुआ है. हालांकि याहू में चीनी फर्म अलीबाबा की हिस्सेदारी का सौदा नहीं हुआ है. अलीबाबा की हिस्सेदारी 15 फीसदी है.

एक दौर था, जब इंटरनेट से जुड़ा तकरीबन हर शख्स याहू मेल और याहू मैसेंजर का इस्तेमाल कर रहा था. यहां तक कि लोग ब्लॉग की तरह काम करने वाले याहू जियोसिटीज से भी बड़ी तादाद में जुड़े थे.

गूगल में काम कर चुकी मेरिसा मायर को सीईओ बनाने का फैसला भी कंपनी को नहीं बचा पाया. याहू के अलटाबा बनते ही इसके निदेशक मंडल में भी बदलाव होगा. अलटाबा में पांच लोगों का निदेशक मंडल होगा। इसमें टोर ब्राहम, एरिक ब्रांट, कैथरीन फ्रीडमैन, थॉमस मैकनेरनी और जेफरी स्मिथ शामिल होंगे. ब्रांट बोर्ड के चेयरमैन होंगे। मेरिसा मायर और याहू के सह संस्थापक डेविड फिलो कंपनी को अलविदा कह देंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top