Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इन्द्रदेव ने किया कृष्ण नगरी को जलमग्न, मंदिर में घुसा नाले का पानी

 Anurag Tiwari |  2016-07-18 09:22:20.0

Mathura, Water-Logging, Heavy Rainsतहलका न्यूज़ ब्यूरो

मथुरा. पिछले दिनों से हो रही लगातार बरसात ने भगवान् श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा नगरी को जलमग्न कर दिया है।  यहाँ तक कि शहर की सड़कों के लबालब होने के चलते शहर के मध्य स्थित प्रसिद्ध रंगेश्वर महादेव मन्दिर मे नाले का गंदा पानी घुस गया। इससे शिव लिंग गंदे पानी में डूब गया। हालाँकि, लगातार हो रही झमाझम बारिश से लबालब सड़कों  और परिक्रमा मार्ग कई जगह फुट बहता पानी भी श्रद्धालुओं की आस्था को नहीं रोक सका। श्रद्धालुओं के कदम बढ़ते ही चले गए।  प्रशासनिक अव्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी। प्रशासन ब्यबस्था को लेकर गहन चिंतन कर रहे है।


6परिक्रमा मार्ग पर जलभराव, श्रद्धालु हो रहे हैं चोटिल

सप्तकोसीय परिक्रमा मार्ग बिजलीघर तिराहे के पास और बड़ी परिक्रमा मार्ग मोदी भवन के पास जल भराव का नजारा देखा जा रहा है ये पानी गन्दी नालियो का है जिसमें होकर श्रद्धालु दंडवती परिक्रमा लगा रहे है व नालियो में गिरके चोटिल हो रहे हैं। पैदल परिक्रमार्थियों को भी भारी समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन द्वारा बनाई गई अधिकतम पार्किंगों में जल भराव का नजारा देखा जा रहा है लेकिन इन सब अव्यवस्था के बावजूद श्रद्धालुओं की आस्था भारी पड़ रही है।

9

नगर के अन्य इलाकों में भी अव्यवस्था

मुकुट मंदिर के समीप हाथरस वाली धर्मशाला के सामने भी नाली पर जाली नहीं है। बड़ा बाजार लक्ष्मीनारायण मंदिर के समीप पानी की निकासी न होने से दो फीट से ऊपर पानी से होकर परिक्रमार्थियों को निकलना पड़ा। यही स्थिति बिजली घर के सामने दसविसा, सौंख अड्डा व अन्य स्थानों पर देखी गई। प्रशासन ने समय रहते बरसात को गंभीरता से नहीं लिया तो भीड़ के सैलाब के बीच दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।



33पार्किंग स्थलों में जलभराव, कीचड़

मुड़िया पूर्णिमा मेला में पार्किंग स्थलों की स्थिति खराब है। यहां करीब पांच संपर्क मार्गों पर 50 के करीब पार्किंग बनाई हैं। इन पार्किंग स्थलों पर कीचड़ व पानी होने की वजह से वाहन चालक पार्क करने से कतरा रहे हैं। राधाकुण्ड , गोवर्धन, डीग रोड, बरसाना रोड,  और सौंख रोड, पर बनाई गई पार्किंग स्थलों में भरा पानी।

8

बारिश ने हस्तशिल्पियों को पहुंचाया नुकसान

जिला उद्योग केंद्र मथुरा ने मुड़िया मेला में प्रोत्साहन देने के लिए हस्तशिल्पियों को अपनी दुकान लगाई है। प्रशासन ने रामलीला मैदान में जो पांडाल लगाया है वह वाटरप्रूफ नहीं है, इसके चलते हस्तशिल्पियों का काफी सामान बारिश के पानी में भीगकर नष्ट हो चुका है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top