Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

116 लोगों पर FIR के बाद खत्म हुआ कैलाश गर्ल्स हॉस्टल का 'होली' ड्रामा

 Tahlka News |  2016-03-17 08:55:30.0

lu_1458136326


तहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 17 मार्च. चार दिन तक लखनऊ यूनिवर्सिटी प्रशासन, कैलाश गर्ल्स हॉस्टल की प्रोवोस्ट व समर्थकों के बीच चली नूरा कुश्ती बुधवार को देर रात खत्म हो गई। बुधवार देर रात कैलाश हॉस्टल की पूर्व प्रोवोस्ट शीला मिश्रा ने हॉस्टल खाली कर दिया। वहीं, हसनगंज पुलिस और विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रोवोस्ट के पिता व भाई समेत 116 लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई।


बता दें कि इसी मामले में नराज होकर एलयू के चीफ प्रोवेस्ट एसपी त्रिवेदी, स्टूडेंट वेलेफेयर के डीन प्रो. अनिल शुक्ला और चीफ प्रॉक्टर निशि पांडे ने अपना इस्तीफा कुलपति एसबी निमसे को सौंप दिया।


इससे पहले कैलाश हॉस्टल की पूर्व प्रोवोस्ट शीला मिश्रा वीसी एसबी निम्से के कई बार हॉस्टल खाली करने के निर्देश को नजरअंदाज कर हॉस्टल मे टिकी रहीं। बुधवार को वीसी की ओर से उन्हें शाम पांच बजे तक हॉस्टल खाली करने का टाइम दिया गया था। शाम को वीसी एसबी निम्से उन्हें मनाने भी गए लेकिन वे नहीं मानीं लेकिन देर रात उन्होंने खुद ही हॉस्टल खाली कर दिया।


क्या है पूरा मामला
बीते दिनों कैलाश गर्ल्स हॉस्टल की पूर्व प्रोवोस्ट शीला मिश्रा के बेटे का गर्ल्स हॉस्टल में होली खेलते हुए वीडियो वायरल हुआ था। इसके अलावा समाजवादी छात्र सभी द्वारा वीसी एसबी निमसे को शिकायती पत्र भी दिया गया था जिसमें शीला मिश्रा पर कई आरोप थे। इसके बाद वीसी ने जांच पूरी होने तक शीला मिश्रा को हॉस्टल खाली करने को बोला था लेकिन वे हॉस्टल से न जाने पर अड़ गईं। वीसी के तीन बार पत्र लिखे जाने पर भी उन्होंने हॉस्टल नहीं खाली किया था। मंगलवार रात हॉस्टल की छात्राओं के साथ उन्होंने धरना भी दिया था।


मंगलवार को हुई थी हिंसा
लखनऊ यूनिवर्सिटी के कैलाश हॉस्टल मामले ने मंगलवार रात को हिंसक रूप ले लिया था। हॉस्टल की पूर्व प्रोवोस्ट प्रो. शीला मिश्र के समर्थन में उतरे छात्रों की मंगलवार रात कुलपति से मुलाकात के बाद पुलिस से भिड़ंत हो गई। पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया तो गुस्साए छात्रों ने कैलाश छात्रवास व लखनऊ विवि रोड पर पथराव कर दिया। उन्हें काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े। छात्रों ने टेम्पो में तोड़फोड़ कर यात्रियों को नीचे उतार दिया। हसनगंज इंस्पेक्टर की जीप तोड़ डाली और एक प्रोफेसर के घर व गाड़ी में आग लगा दी। अफरातफरी के बीच छात्रएं पूर्व प्रोवोस्ट को हॉस्टल के अंदर घसीट ले गई। बवाल बढ़ता देख कई थानों की पुलिस बुला ली गई। देर रात तक मौके पर तनाव की स्थिति बनी हुई थी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top