Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यहां खुदा, वहां खुदा, इस खुदाई से परेशान हैं काशीवासी

 Tahlka News |  2016-05-14 11:17:07.0

[caption id="attachment_79405" align="aligncenter" width="640"]Prime Minister Contituency, Varanasi, Smart City, Trences, Electricity Department, Ill, Respiratory problem वाराणसी शहर में सडक पर खुदा गड्ढा[/caption]

वाराणसी. एक तरफ तो वाराणसी को इन दिनों स्मार्ट बनाने की जोर-शोर से कोशिशें जारी है और होना भी चाहिए।  क्योकि वाराणसी देश के प्रधान मंत्री का संसदीय क्षेत्र जो ठहरा। लेकिन शहर को स्मार्ट बनाने के चक्कर में यहाँ के प्रशासनिक व विभागीय अधिकारी ये भूल गए हैं कि एक शहर स्मार्ट तभी बन सकता है, जब उसे बनाने का तरीका भी स्मार्ट हो।


गड्ढों में गिरकर, जाम में फंसकर पहुंच रहे अस्पताल
वाराणसी शहर की जनसँख्या लाखो में है और पूर्वांचल का प्रमुख धार्मिक और व्यापारिक शहर होने के कारण लोग यहां बाहर से भी हजारो की संख्या में आते हैं। लेकिन आए दिन तार बिछाने के लिए खोदे गए गड्ढों में गिर-गिर कर लोग घायल हो रहे है और उन्हें अस्पताल का रुख करना पड़ रहा है। इसके आलावा इन गड्ढों से ट्रैफिक पर भी असर पड़ रहा है। लम्बे  ट्रैफिक जाम के झाम में फंसकर परेशान हो रहे है। मामला तब और गम्भीर हो जा रहा जब महीना मई और जून का हो जब गर्मी चरम पर होती है। इस भीषण गर्मी और चिलचिलाती धूप में सड़कों के जाम में घंटो फंसकर लोग बीमार पड़ रहे है।  यहीं नहीं इन खोदे गए गड्ढों की मिटटी धूल के रूप में लोगों को सांस संबंधी रोगों की सौगात दे रही है।

Prime Minister Contituency, Varanasi, Smart City, Trences, Electricity Department, Ill, Respiratory problem, Uttar Pradesh. Latest News,

खोदा गड्ढा, काम पूरा हुआ, निकल लिए
इस पूरे मामले में दुखद पहलू यह है कि विभागीय अधिकारियों को भी इसकी फ़िक्र नहीं है कि जिस कार्यदायी संस्था ने ये गड्ढे खोदे है इन्हे भरना भी उन्ही को है।  काम करने वाली संस्थाएं काम के लिए गड्ढे तो खोद रही हैं लेकिन काम पूरा होने के बाद बोरिया बिस्तर समेट कर बिना गड्ढा पाटे, वहां से चले जाते हैं।

नई बनी सड़कों को खोद दिया
शहर की कई सडकें वीआईपी आवागमन के चलते कुछ दिनों पहले ही बनाई गयीं थी। साथ ही मकसद था शहर की सड़क गड्ढे मुक्त रहे। लेकिन स्मार्ट सिटी के कांसेप्ट को ताक पर रखकर विभाग या निगम का ठेकेदार गड्ढे कर उसे पहले से भी बदतर बना देते हैं। सम्बंधित अधिकारी से शिकायत करने पर जवाब मिलता है कि स्मार्ट शहर चाहिए तो थोड़ा परेशानी तो उठानी ही पड़ेगा।

Prime Minister Contituency, Varanasi, Smart City, Trences, Electricity Department, Ill, Respiratory problem, Uttar Pradesh. Latest News,

SMART CITY के चक्कर में DULL शहर बन गया वाराणसी
वाराणसी को दुनिया में धर्म नगरी काशी के नाम से जाना जाता है।  काशी को ना सिर्फ धार्मिक बल्कि पर्यटन का अच्छा क्षेत्र माना जाता है। तो इस शहर व क्षेत्र का दुनिया की अन्य हेरिटेज शहरो की तरह ही स्मार्ट होना लाज़मी है। लेकिन हमारे वाराणसी के विभागीय अधिकारी अभी तक स्मार्ट नहीं हो पाये है। ताजा मामला पूर्वांचल विद्युत निगम द्वारा सड़कों के किनारे ऊपर खम्भों पर लटक रहे बिजली के तारो को भूमिगत करने का है। शहर में चारो तरफ ऊपर से जा रहे बिजली के तारो को भूमिगत करने से शहर की खूबसूरती तो बढ़ जाएगी और शहर स्मार्ट तो दिखेगा , लेकिन शहर को स्मार्ट बनाने के चक्कर में निगम और प्रशासनिक अधिकारी ये क्यों भूल जाते हैं कि काशी पहले से बसा हुआ शहर है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top