Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

काशी की ये मुस्लिम महिला पढ़ती है हनुमान चालीसा, PM मोदी की है मुरीद

 Abhishek Tripathi |  2016-07-07 06:44:45.0

Nazneen_ansariतहलका न्यूज ब्यूरो
वाराणसी. काशी की रहने वाली एक मुस्लिम महिला नाजनीन अयोध्या में भगवान राम का मंदिर का निर्माण करवाना चाहती हैं। नाजनीन चाहती हैं कि जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण शुरू किया जाए। बता दें कि नाजनीन रोजे की पाबंद होने के साथ ही भगवान राम और हनुमान की भी भक्त हैं। वह हनुमान चालीसा का नियमित रूप से पाठ करती हैं। इसके साथ ही वह अपने बच्चों को भी भगवान हनुमान से प्रेरणा लेने की सीख देती हैं।


बनारस का रस और बनारसी संस्कृति नाजनीन के मिजाज और कामों में साफ झलकती है। हिजाब की पाबंद नाजनीन जन्म और आस्था दोनों से सच्ची मुसलमान हैं। नाजनीन के मन में धर्म को लेकर कोई पशोपश नहीं है। राजनीतिक रूप से पीएम मोदी की परम समर्थक नाजनीन अंसारी को इस बात पर पूरा भरोसा है कि कोई धर्म आपस मे लड़ना नहीं सिखाता।


अयोध्या में राम मन्दिर को लेकर वह कहती हैं कि इसके लिए वह हाशिम अंसारी से मुलाकात करेंगी। उनसे अपील करेंगी कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए न सिर्फ वह साथ दें, बल्कि देश के सभी मुस्लिमों से वे खुद भी अपील करें।


Nazneen_ansari1

मुस्लिम महिला फाउंडेशन की राष्ट्रीय अध्यक्ष नाजनीन अंसारी की ख्वाहिश है कि राम मंदिर का मसला अब सुलझ ही जाना चाहिए। नाजनीन का कहना है कि जिस तरह मक्का मदीना हर मुसलमान के लिए पाक है, वहां कोई दूसरा धर्मस्थल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, उसी तरह अयोध्या हिंदुओं के लिए पाक है। फिर वहां कुछ और कैसे स्वीकार हो सकता है।


Nazneen_ansari2


राम मंदिर को नेकर नाजनीज की गहरी सोच
नाजनीन का कहना है कि अयोध्या भगवान श्रीराम की थी और उन्हीं की रहेगी। वह कहती हैं, ‘मंगोलों ने राम मंदिर तोड़ा था लेकिन तोहमत मुसलमानों पर लगाई गई। चंगेज खान का वंशज ही बाबर मंगोल था जिसके पूर्वज हलाकू ने 1258 ई. में इस्लाम के अंतिम खलीफा को मार डाला। इन्हीं मंगोलों की वजह से मुसलमानों का कोई खलीफा नहीं। बाबर के पूर्वजों ने इस्लाम का सत्यानाश किया। बाबर के सेनापति मीर बाकी ने अयोध्या में राम जन्म स्थान पर बने हुए मंदिर को तोड़कर 1528-29 ई. में मस्जिद बनवाई। वह जगह राम मंदिर की थी और रहेगी।’

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top