Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इस खास वजह से दिसंबर 2016 में हो सकते हैं यूपी चुनाव

 Abhishek Tripathi |  2016-05-26 11:08:10.0

up-assembly-electionतहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ. आपको ये जानकर ताजुब होगा कि बीजेपी के अलावा यूपी की सत्ताधारी पार्टी समाजवादी पार्टी (सपा) भी यही चाहती है कि यूपी विधानसभा चुनाव साल 2017 में न होकर 2016 में ही हो जाए। वैसे बसपा को भी इस बात से कोई परहेज नहीं है। सूत्रों की मानें तो, चुनाव आयोग यूपी, उत्तराखंड और पंजाब में एकसाथ चुनाव कराने के मूड में है। सपा का भी यही मानना है कि यदि 2016 में चुनाव होते हैं तो वोटिंग परसेंटेज बढ़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि मार्च-अप्रैल में चुनाव के दौरान बच्चों की बोर्ड परीक्षाएं चल रही होंगी। इससे कई समस्याएं आ सकती हैं और वोटिंग परसेंटेज भी प्रभावित हो सकता है।


बीजेपी को इस बात की आहट है कि यूपी चुनाव जल्द हो सकते हैं। ऐसे में मोदी सरकार की टीम ने अपने दांव खोलने भी शुरू कर दिए हैं। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष (यूपी) केशव प्रसाद मौर्या की नियुक्ति और विभिन्न जिलाओं में हो रही जनसभाओं को देखकर कुछ ऐसा ही अनुमान लगाया जा सकता है। फिलहाल, चुनाव आयोग की ओर से अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।


ये भी पढ़ें: यूपी चुनाव: CONGRESS का घोषणा पत्र, किसानों की कर्ज माफी से मंगलसूत्र तक का वादा


यूपी के सीएम अखिलेश यादव भी आगामी विधानसभा के लिए पूरे तैयार हैं। हर दिन जिलों में रैली कर रहे हैं और अपनी विकास की योजनाएं गिना रहे हैं। पार्टी के कार्यकर्ताओं को भी कह दिया गया है कि गुणगान न करें बल्कि लोगों तक विकास की योजनाओं को पहुंचाने का काम करें।


ये भी पढ़ें: समय से पहले बजेगी यूपी चुनाव की डुगडुगी, सीएम अखिलेश नहीं पूरा कर पाएंगे कार्यकाल


पीएम नरेंद्र मोदी दोबारा गलती नहीं करेंगे
नरेंद्र मोदी जिस तरह से देश के पीएम चुने गए वह अपने आप में एक ऐतिहासिक पल रहा। लोकसभा चुनाव 2014 में मोदी लहर ने किसी राजनीतिक पार्टी को नहीं बख्शा। बसपा अपना खाता भी नहीं खोल सकी और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को किसी तरह से अपनी इज्जत बचानी पड़ी। इसके बावजूद दिल्ली के चुनाव में बीजेपी को करारी हार मिली। पीएम मोदी की टीम की मानें तो, इस हार की वजह सिर्फ दिल्ली चुनाव, लोकसभा चुनाव से काफी देर में हुआ था और तब तक मोदी लहर थोड़ी शांत हो चुकी थी। इसी बात का फायदा अरविंद केजरीवाल को मिला।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top