Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी : चुनाव सुधार को लेकर पदयात्रा निकालेगी महिलाएं

 Vikas Tiwari |  2016-05-28 21:24:47.0

K.03
ललितपुर. यूपी इलेक्शन वाच तथा साई ज्योति संस्था के संयुक्त तत्वावधान में यहां महरौनी विधानसभा क्षेत्र के बालाबेहट के सामुदायिक केंद्र में आयोजित विधानसभा स्तरीय संगठन बैठक में मौजूद महिलाओं ने फैसला किया कि 'अब न तो हम छोटे-छोटे प्रलोभनों में बिकेंगे। न ही किसी को बिकने देंगे। लोगों में चुनाव सुधार को लेकर जागरूकता के लिए जनपद में हम लोग पदयात्रा निकालेंगे।' (19:02)
महिलाओं ने कहा कि हम लोग चुनावी लालीपाप में नहीं आएंगे। हम अपने घोषणा पत्र बनाएंगे और उन पर चुनाव लडने वाले प्रत्याशियों के हस्ताक्षर कराकर उन पर काम करनेका दबाव बनाएंगे।


बैठक में यूपी इलेक्शन वाच के प्रदेश संयोजक अनिल शर्मा ने कहा कि जनप्रतिनिधियों की जिस तरह की कार्यशैली है। वह किसी से छिपी नहीं है। वह हमारे सेवक है। हमें उनसे काम लेना होगा। इसके लिए जरूरी है कि चुनाव के दौरान हम लोग अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित समस्याओं की सूची तैयार करे। जब नेता प्रचार के दौरान अपने इलाके में वोट मांगने आए तो उनसे पहले अपने मांग पत्र पर हस्ताक्षर करवा कर हामी भरवाएंगे। जब वह ऐसा कर देंगे तो वह काम करने को मजबूर हो जाएंगे।

एडीआर एवं यूपीइलेक्शनवाच के मांग पत्र बताते हुए उन्होंने कहा कि इन मांग पत्रों के माध्यम से राजनैतिक दलों से मांग की जाएगी कि वह हत्या, रेप, लूट, डकैती तथा महिला उत्पीडन से संबंधित आरोपी दागी नेताओं को टिकट न दे। जब लाखों कर्मचारियों की वर्ष 2005 से पेंशन बंद हो गई है तो जनप्रतिनिधियों की भी पेंशन बंद होनी चाहिए। नोटा में पड़े मत यदि चुनाव जीतने वाले प्रत्याशी से ज्यादा हो तो ऐसी सीटों को रिक्त घोषित कर चुनाव आयोग फिर से चुनाव कराए। केंद्रीय चुनाव आयोग को स्वतंत्रता से काम करने के लिए स्वायत्तशासी संस्था बनाया जाए। साथ ही चुनाव आयोग अपने खर्चे पर चुनाव लड़ाने की व्यवस्था करे। इससे भ्रष्टाचार समाप्त होगा।

इलेक्शनवाच के जिला संयोजक सिद्धगोपाल ने कहा कि चुनाव के दौरान शराब हावी रहती है। इसे महिलाएं रोक सकती हैं। वह इसके खिलाफ मुखर हो जाए और प्रलोभन देने वाले नेता को कतई वोट न दें। उन्होंने कहा कि बदलाव के लिए छोटे स्तर से ही शुरूआत करे। बदलाव जरूर होगा। उन्होंने कहा कियदि आपका बच्चा दस रुपये लेकर खर्च लेता है तो उसे डांटते हैं। लेकिन नेतागण आपके पैसे का हिसाब नहीं देते हैं। इसके लिए जागरूक होना है। उनसे हिसाब मांगना होगा।

महरौनी विधानसभा प्रभारी हीरालाल प्रजापति ने कहा कि वोट के अधिकार को जानकर निर्भय होकर वोट दे। प्रत्याशी का धनबल, बाहुबल नहीं बल्कि उसकी काबिलियत देखे। कोर कमेटी के सदस्य शशि शेखर दुबे ने इलेक्शन वाच की कार्ययोजना के बारे में जानकारी दी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top