बियर से अपनी टीमों को चीयर करते अफसरों ने किया क़ानून का चीरहरण

 2016-04-03 17:53:01.0

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


bearलखनऊ, 3 अप्रैल. सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीना अब जुर्म की श्रेणी में आता है. अगर कोई ऐसी गलती करता है तो पुलिस कार्रवाई करती है और जुर्माना भी वसूलती है. मगर जब सैंया भये कोतवाल तो फिर दर काहे का. रविवार को यह कहावत पूरी तरह से चरितार्थ हो गई. राजधानी के इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में एक अलग ही नजारा देखने को मिला. आईएएस और आईपीएस अफसरों के बीच हुए क्रिकेट मैच के दौरान अफसरों ने जमकर बीयर पी और मैच का मजा लिया. इस दौरान उनकी पत्नियाँ और बच्चे भी मौजूद रहे.


bear-2इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में आईएएस इलेवन और आईपीएस इलेवन के बीच फ्रेंडली मैच खेला जा रहा था. मैच के दौरान पवेलियन में बैठे अफसर गर्मी से खुलेआम बीयर पी रहे थे. कई अफसरों के हाथ में बीयर की कैन और कप नज़र आ रही थी. वह बियर पीते हुए मैच को इंजॉय कर रहे थे. अफसरों के लिए स्नैक्स का भी इंतजाम था.


कोई अफसर बियर के साथ मूंगफली का मज़ा ले रहा था तो कोई जाम छलकाते हुए अपनी टीम का उत्साह बढ़ाने में लगा था.


bear-3सार्वजनिक स्थल पर शराब पीने पर जुर्माने के साथ-साथ सजा का भी प्रावधान है. इसका पालन कराने के लिए आईपीएस अफसरों को ख़ास निर्देश भी हैं. मगर यह निर्देश तो दूसरों के लिए हैं. एक अफसर ने कहा भी कि यह तो हाई सोसाइटी का कल्चर का हिस्सा है. हमारी पार्टियों में बियर-वियर कोई इश्यू नहीं होता.


भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एल.के.वाजपेयी ने कहा कि यह यहाँ जाम छलका रहे हैं वहां एन.आई.ए. अफसर का क़त्ल हो गया. क्या कहें इन्हें. पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि प्रशासनिक अखिकारियों का चित्र समाज में एक सन्देश देता है. आज जो भी मैच के दौरान हुआ और जो दृश्य देखा गया, यह कदापि उचित नहीं है. मर्यादा और संयम बरते जाने की ज़रुरत है. यह गंभीर विषय है. इन पर गंभीर धाराओं में कार्रवाई होनी चाहिए. आम लोगों की तरह इन लोगों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए.

loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top