Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

‘हौसला पोषण योजना-फीडिंग कार्यक्रम’ से गर्भवती माताओं एवं बच्चों में कुपोषण दूर करेंगे अखिलेश

 Tahlka News |  2016-07-15 15:41:26.0

cm-shravasti-1




  • महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य व पोषण समाजवादी सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल: मुख्यमंत्री

  • लगभग 10 लाख गर्भवती माताओं तथा 6 माह से 6 वर्ष तक के लगभग 14 लाख अतिकुपोषित बच्चों को हफ्ते में 6 दिन दोपहर का भोजन तथा एक मौसमी फल मुहैया कराया जाएगा

  • समाजवादी सरकार ने अपने संसाधनों से इस योजना को लागू कर एक उदाहरण पेश किया

  • स्वास्थ्य मानकों में सबसे पिछड़ा जिला होने के कारण योजना की शुरुआत के लिए श्रावस्ती को चुना गया

  • सरकारी स्कूलों में बेहतर पढ़ाई के लिए भी हर सम्भव कदम उठाए जाएंगे

  • समाजवादी सरकार ने बहराइच-श्रावस्ती 4-लेन सड़क बनवाई

  • मुख्यमंत्री ने श्रावस्ती जनपद में 69 करोड़ रूपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया

  • जनपद श्रावस्ती की विकास पुस्तिका तथा हौसला पोषण मिशन की संचालन पुस्तिका का विमोचन

  • मुख्यमंत्री ने जनपद श्रावस्ती में ‘हौसला पोषण योजना’ का शुभारम्भ किया


cm-shravasti-5


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश के लोगों खासकर महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य व पोषण समाजवादी सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है। महिलाओं के स्वास्थ्य, सुरक्षा और पोषण के लिए जो काम समाजवादी सरकार ने किया है, वैसा किसी अन्य सरकार ने नहीं किया है। जब तक प्रदेश में स्वास्थ्य मानक बेहतर नहीं होंगे, तब तक देश में भी स्वास्थ्य मानक बेहतर नहीं हो सकते। इसलिए हौसला पोषण योजना की शुरूआत की गई है। समाजवादी विचारधारा ही वह विचारधारा है, जो गांव, गरीब, किसान, मजदूर, वंचित सहित हर वर्ग को साथ लेकर चलने का काम कर रही है। वर्तमान सरकार का कार्यकाल प्रदेश के विकास का दस्तावेज है।


मुख्यमंत्री आज जनपद श्रावस्ती के अति पिछड़े और अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति बाहुल्य इलाके के मोतीपुर कला गांव में ‘हौसला पोषण योजना’ का शुभारम्भ करने के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गर्भवती माताओं तथा अतिकुपोषित बच्चों के पोषण के लिए अपने संसाधनों से ऐसी योजना को जमीन पर उतार कर समाजवादी सरकार ने एक उदाहरण पेश किया है। प्रदेश के बच्चों और गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए संचालित किये जा रहे इस कार्यक्रम के लिये 700 करोड़ रुपये का प्रबन्ध किया गया है। ‘हौसला पोषण योजना-फीडिंग कार्यक्रम’ से गर्भवती माताओं एवं बच्चों में कुपोषण दूर होगा।


cm-shravasti


ज्ञातव्य है कि समाजवादी सरकार ने राज्य पोषण मिशन के तहत हौसला पोषण योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश की लगभग 10 लाख गर्भवती माताओं तथा लगभग 14 लाख अतिकुपोषित 6 माह से 6 वर्ष तक के बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्रों पर हफ्ते में 6 दिन दोपहर में पका-पकाया भोजन तथा एक मौसमी फल मुहैया कराया जाएगा। इसके अलावा, गर्भवती महिलाओं को हफ्ते में 3 दिन भोजन के साथ दही भी दिया जाएगा।


अतिकुपोषित बच्चों को 20 ग्राम प्रति बच्चे प्रतिदिन की दर से महीने में आधा किलो देशी घी दिया जाएगा। गर्भवती महिलाओं को भोजन के साथ आयरन की गोली तथा 3 वर्ष से 6 वर्ष तक के कुपोषित बच्चों के लिए घर पर ग्रहण करने हेतु बिस्किट पैकेट/मुरमुरा चना दिया जाएगा। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गर्भवती महिलाओं को तथा अतिकुपोषित बच्चों की माताओं को पोषण एवं स्वास्थ्य सम्बन्धी परामर्श भी दिया जाएगा।


cm-shravasti-2


योजना के शुभारम्भ के लिए लोगों को बधाई देते हुए श्री यादव ने भरोसा जताया कि योजना के संचालन में मुख्य सचिव से लेकर ग्राम स्तर तक के कर्मचारियों का सहयोग मिलेगा, जिससे कुपोषित बच्चों एवं महिलाओं का स्वास्थ्य बेहतर बनाया जा सके। उन्होंने योजना को मूर्त रूप देने में सांसद कन्नौज श्रीमती डिम्पल यादव के विशेष योगदान सहित मुख्य सचिव दीपक सिंघल, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन, बाल विकास एवं महिला कल्याण विभाग की प्रमुख सचिव सुश्री डिम्पल वर्मा, राज्य पोषण मिशन के महानिदेशक कामरान रिज़वी के योगदान की सराहना करते हुए, उन्हें धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य के सम्बन्ध में इस जनपद के आकड़े सबसे पीछे होने की वजह से उन्होंने यह तय किया कि श्रावस्ती जनपद से ‘हौसला पोषण योजना’ की शुरुआत की जाए। इस मौके पर उन्होंने जनपद के विकास से सम्बन्धित 69 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण भी किया। इनमें 56 करोड़ रुपये की 21 परियोजनाओं का शिलान्यास तथा 13 करोड़ रुपये से अधिक की 9 परियोजनाओं का लोकार्पण शामिल है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने स्कूलों में दोपहर के भोजन के साथ-साथ दूध व फल वितरण की व्यवस्था भी की है। ऐसी व्यवस्था से स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ती है। लेकिन स्कूलों में बच्चों की बेहतर पढ़ाई भी होनी चाहिए। अगर पढ़ाई बेहतर नहीं हुई तो भविष्य भी बेहतर नहीं होगा। जिस प्रकार पौष्टिक खाने के बगैर स्वास्थ्य बेहतर नहीं हो सकता उसी तरह बेहतर पढ़ाई के बगैर भविष्य भी बेहतर नहीं हो सकता।


समाजवादियों ने सभी क्षेत्र में काफी काम किया है और लगातार काम कर रहे हैं। सरकारी स्कूलों में बेहतर पढ़ाई के लिए भी हर सम्भव कदम उठाए जाएंगे। इसके लिए तकनीक की सहायता लेने के साथ ही वीडियो, रिकाॅर्डेड स्टडी मैटीरियल आदि की जरूरत होने पर इन्तजाम किया जाएगा, ताकि बच्चों की पढ़ाई की अच्छी सुविधा मिले।


cm-shravsati-3


श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने अपनी कामों के माध्यम से उदाहरण प्रस्तुत किया है। सभी योजनाओं को बिना किसी भेद-भाव के लागू किया गया है। सड़क, बिजली, पेयजल, स्वास्थ्य सुविधाएं, सामाजिक सुरक्षा आदि सभी क्षेत्रों में समाजवादी सरकार ने काम किया है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे देश का सबसे लम्बा और सबसे कम समय में तैयार होने वाला एक्सप्रेस-वे है। यह एक्सप्रेस-वे प्रदेश की तस्वीर और तकदीर बदल देगा। लगभग 18 लाख लैपटाॅप का निःशुल्क वितरण करके समाजवादी सरकार ने गांव-गांव तक लैपटाॅप पहुंचाकर उदाहरण प्रस्तुत किया है। दुनिया में कहीं भी तकनीकी और उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए ऐसा काम नहीं हुआ है। लोहिया ग्रामीण आवास के लिए भी राज्य सरकार ने 3 लाख रुपये से भी अधिक की व्यवस्था की है, जिससे गरीब का घर बन जाये। समाजवादी पेंशन योजना के तहत लाभार्थियों की संख्या को 45 लाख से बढ़ाकर 55 लाख परिवार किया गया है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के फिर से सत्ता में आने पर समाजवादी और भी बेहतर काम करके दिखाएंगे।


श्री यादव ने कहा कि नौजवानों को रोजगार मुहैया कराने के लिए समाजवादी सरकार ने बड़े पैमाने पर भर्तियां शुरू कराई हैं। 1 लाख 72 हजार शिक्षामित्रों को समायोजित किया गया है। पुलिस विभाग में 40 हजार कर्मियों की भर्ती हो चुकी है। 35 हजार पुलिस कर्मियों की भर्ती चल रही है। 55 लाख गरीब परिवारों की महिला मुखिया को समाजवादी पेंशन दी जा रही है। 18 लाख नौजवानों को निःशुल्क लैपटाॅप, कन्या विद्या धन योजना, ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा एवं ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस, किसान दुर्घटना बीमा योजना आदि योजनाओं को लागू किया गया है।


समाजवादी सरकार द्वारा लागू इन योजनाओं का लाभ जनता को मिल रहा है। समाजवादी सरकार न होती तो यह सब सम्भव नहीं हो पाता। क्योंकि इससे पहले की राज्य सरकार ने तो केवल पत्थर के हाथी ही लगाये थे। जनता से अच्छे दिन के नाम पर वोट लेने वालों ने पिछले दो सालों में कुछ नहीं किया। लोकतंत्र में कभी-कभी ऐसा हो जाता है कि जनता बहकावे में आ जाती है।


cm-shravasti-4


श्री यादव ने कहा कि श्रावस्ती जनपद के विकास के लिए लगातार काम किया गया है। बहराइच से श्रावस्ती तक की 4-लेन सड़क समाजवादी सरकार ने बनवायी है। जनपद में बिजली की बेहतर व्यवस्था की गयी है। इसे और बेहतर किया जाएगा। समाजवादी सरकार गोरखपुर में एम्स की स्थापना के लिए जमीन मुहैया करा रही है। एम्स की स्थापना के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे, क्योंकि समाजवादियों को मानना है कि जनता को अच्छी से अच्छी सुविधाएं मिलनी चाहिए। समाजवादियों की प्राथमिकता विकास है।


इस मौके पर राज्यमंत्री जन्तु उद्यान डाॅ. एसपी यादव, मुख्य सचिव दीपक सिंघल, बाल विकास एवं महिला कल्याण विभाग की प्रमुख सचिव सुश्री डिम्पल वर्मा, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन, राज्य पोषण मिशन के महानिदेशक कामरान रिज़वी, विधायक भिनगा श्रीमती इन्द्राणी वर्मा, विधायक इकौना हाजी मोहम्मद रमज़ान ने भी अपने विचार व्यक्त किये। राज्य मंत्री कृषि शिक्षा, अनुसंधान तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं प्रभारी मंत्री राधे श्याम सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर जनपद श्रावस्ती की विकास पुस्तिका एवं हौसला पोषण मिशन की संचालन पुस्तिका का विमोचन भी किया।


श्री यादव ने स्वच्छ शौचालय योजनान्तर्गत 205 लाभार्थियों, आजीविका मिशन के 30 समूह, 38 निःशक्तजनों को ट्राई साईकिल, 05 को कृत्रिम श्रवण यंत्र, साईकिल सहायता योजना के तहत 1000 श्रमिकों को साईकिल, लोहिया आवास के 10 लाभार्थियों को डेमो चेक, समाजवादी पेंशन योजना के 500 लाभार्थियों को डेमो चेक, मिनी कामधेनु डेरी योजना के 01 लाभार्थी को स्वीकृति पत्र, कृषक दुर्घटना बीमा योजना के 5 लाभार्थियों पांच-पांच लाख के चेक, कौशल विकास मिशन के 5 प्रशिक्षणार्थियों को ड्रेस व किट, अतिकुपोषित बच्चों की माताओं को देशी घी, पोषण किट व दूध के पैकेट का वितरण किया।


इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने ग्राम मोतीपुरकलां के मजरा ढाढूपुरवा के प्राथमिक विद्यालय परिसर में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र में गर्भवती महिलाओं तथा 06 माह से 06 वर्ष तक के अतिकुपोषित बच्चों को भोजन का वितरण कर ‘‘हौसला पोषण योजना-फीडिंग कार्यक्रम‘‘ का विधिवत शुभारम्भ किया। आईसीडीएस विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों से जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायतों में नवनिर्मित 10 पुस्तकालयों, 10 आंगनबाड़ी केन्द्रों एवं 10 प्राइमरी स्कूलों के जीर्णोद्धार कार्य का लोकार्पण किया। इन सभी परियोजना की कुल लागत 45 लाख रुपये है।


इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्रिगण, अन्य जनप्रतिनिधिगण सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी व बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top