Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गुजरात माडल से यूपी की तकदीर बदलेंगे योगी

 shabahat |  2017-03-28 17:36:48.0

गुजरात माडल से यूपी की तकदीर बदलेंगे योगी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की बागडोर सँभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने इसे उत्तम प्रदेश बनाने के हर संभव उपाय शुरू कर दिए हैं. इन्हीं उपायों के तहत योगी ने जिस प्रदेश की जो परम्परा भी अच्छी है उसे वहां से उठाने की पहल की है. उन्होंने तय किया है कि उत्तर प्रदेश में दूध की कमी को दूर करने के लिए वह गुजरात माडल अपनाएंगे तो राशन बांटने और खेती के लिए छत्तीसगढ़ माडल को अपनाने में कोई गुरेज़ नहीं करेंगे.

उत्तर प्रदेश कृषि प्रधान प्रदेश है यहाँ की लगभग आधी आबादी खेती पर निर्भर है लेकिन पिछले डेढ़ दशक से यूपी के किसान बहुत बुरे हालात में हैं. मौसम की मार ने किसानों की कमर तोड़ दी है. फसल को बार-बार हुए नुकसान की वजह से किसानों के परिवार गले तक क़र्ज़ में डूब गए हैं. हालात ऐसे हो गए हैं कि अगर फ़ौरन किसानों की आमदनी बढ़ाने की कोशिश नहीं की गई तो हालात बहुत ज्यादा खराब हो जाने वाले हैं.

किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने यूपी में डेयरी प्लांट लगाने के लिए दूसरे प्रदेशों में आमंत्रण भेजने का फैसला किया है ताकि यहाँ के लोगों को काम मिले और दूध की कमी दूर हो सके. कम लोग जानते होंगे कि यूपी में ढाई करोड़ लीटर दूध का उत्पादन होता है लेकिन डेयरी उद्योग को इसमें से सिर्फ 12 फीसदी दूध ही जाता है. गुजरात की तर्ज़ पर अगर 50 फीसदी दूध डेयरी को चला जाए तो किसानों को दूध के अच्छे दाम मिल जायेंगे. गुजरात में उत्पादन का 50 फीसदी दूध डेयरी को चला जाता है. आधुनिक मशीनों के ज़रिये दूध और दूध के प्रोडक्ट तैयार किये जाते हैं. डेयरी और सहकारी संघ के मुनाफे के आधार पर किसानों के खातों में पैसे जमा हो जाते हैं. गुजरात में एक करोड़ 70 लाख लीटर दूध कोआपरेटिव सोसायटी को जाता है जिससे 36 लाख परिवारों को सीधे तौर पर फायदा होता है. यही माडल यूपी में चलेगा तो किसानों के दिन बहुरेंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top