Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चुनाव के समय गरीब को बेवकूफ बनाया जाता है: स्वामी अग्निवेश

 Avinash |  2017-01-24 17:26:16.0

चुनाव के समय गरीब को बेवकूफ बनाया जाता है: स्वामी अग्निवेश


तहलका न्यूज़ ब्यूरो
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में स्वास्थ शिक्षा जैसे राष्ट्रीय-नदी, ताल, पाल, झाल के संकट मुक्ति वाले सवालो के साथ-साथ स्थानीय सडक, बिजली, आवास आदि विषयों पर राजनैतिक दलों व उम्मीदवारों की राय जानने व चुनने की रणनीति तय करने प्रदेश भर के स्वैच्छिक संगठन आज राजधानी के गांधी भवन सभागार में जल जंगल जमीन लोक संवाद सम्मेलन में जुटे।

जलपुरुष राजेंद्र सिंह की अगुवाई में जुटे इन संगठनों ने आगामी विधानसभा चुनावों में जनता से जुड़े इन अहम मुद्दों पर अपनी रणनीति तय की। लोक संवाद सम्मेलन का आयोजन सामाजिक संगठन पानी, जल-जन जोड़ो अभियान और एकता परिषद ने संयुक्त रुप से किया था।

सम्मेलन में बोलते हुए स्वामी अग्निवेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में गरीब के हित में सिर्फ घोषणाएं न हो क्योंकि चुनाव के समय गरीब को बेवकूफ बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि इस बार के चुनावों में सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग अपना घोषणापत्र बनाएंगे और उसे लागू करने के लिए राजनैतिक दलों से कहेंगे।

जलपुरुष राजेंद्र सिंह ने कहा कि हमें पांच साल में मौका मिलता जब हम अपनी बातों को मनावा सकें इसलिए यह उचित समय है कि जब जल जंगल और जमीन के सवाल को लेकर राजनैतिक दलों को बेहतर योजनाओं के क्रियान्वन के लिए बाध्य किया जा सके। उन्होंने कहा क हम सब लोग इसके लिए प्रदेश भर में इस तरह का वातावरण तैयार करेंगे कि राजनैतिक दल इन बुनियादी सवालों से बच न सकें।

जाने माने भूगर्भ वैज्ञानिक डॉ विभूति राय ने कहा कि उत्तर प्रदेश दुनया के पांच सबसे सघन क्षेत्रों में से एक है और यहां राजधानी के आसपास का पानी विषैला हो गया है। उन्होंने कहा कि जल एक गंभीर विषय है जिससे आमजन का स्वास्थ्य जुड़ा है। जस्टिस सुधीर सक्सेना ने कहा कि हाला यह हो गए हैं कि पानी के लिए गोलियां चलती हैं और गंगा में नहाना दुश्वार है। अंबेढकर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डीपी सिंह ने कहा कि हमारा आत्मिक जुड़ा प्रकृति से है पर अब एसा युग आ गया है कि हम जल जंगल जमीन से दूर हो गए हैं।
इस मौके पर पूर्व डीजीपी महेंद्र मोदी, एकता परिषद के ऱण सिंह, ताहिरा हसन, भारत भूषण, नरेंद्र मलहोत्रा ने भी अपने विचार रखे।
लोक संवाद कार्यक्रम के बारे में बताते हुए जल-जन जोड़ो अभियान के राष्ट्रीय संयोजक संजय सिंह ने कहा कि स्वैच्छिक संगठन लोगों से अपील करेंगे कि खेती, जवानी, पानी बचाने के कार्यो में जुडने वाले उम्मीदवारों को ही अपना मताधिकार दे। साथ ही तालाबों, झीलों, नदियों को प्रदूषण अतिक्रमण और भूजल शोषण रोकने का संकल्प पाकर जंगल, जंगली जीव बचाने, हरियाली बढाने वाले जलवायु परिवर्तन अनिकूलन में काम करके बाढ-सूखा में काम करने वाले प्रतिनिधियों को विधान सभा में चुनने का संकल्प ले।

संजय सिंह ने कहा कि प्रत्येक गांव की खेती और पानी के मुददे अलग-अलग होते है। सामुदायिक जलाधिकार जो देने का वायदा राजनैतिक दल करें, इससे पूरे प्रदेश में वातावरण का सजृन हो। प्रदेश में पेयजल,स्वच्छता के लिए साझा काम करने के अवसर प्रदान करे। ऐसे ही लोगों को अपना नेतृत्व प्रदान करें।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top