Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

लालकिला कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करेंगे लखनऊ के युवा व्यंग्यकार पंकज प्रसून

 shabahat |  2017-01-22 13:15:39.0

लालकिला कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करेंगे लखनऊ के युवा व्यंग्यकार पंकज प्रसून


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. शहर के सुपरिचित युवा व्यंग्यकार पंकज प्रसून इस बार गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में 4 फ़रवरी को आयोजित ऐतिहासिक लालकिला कवि सम्मेलन में आमंत्रित किये गये हैं. रायबरेली में जन्मे पंकज प्रसून ने बहुत कम समय में देश में अच्छी ख्याति अर्जित की है. अपने चुभते हुए व्यंग्यों के ज़रिये अपनी पहचान बनाने वाले पंकज प्रसून बायोटेक्नॉलोजी जैसे विषय की पढ़ाई कर राष्ट्रीय स्तर की प्रयोशाला केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान में कार्यरत हैं. वह पिछले दस वर्षों में लगातार गद्य व्यंग्य लेखन और काव्यपाठ कर रहे हैं.

पंकज उन कुछ चुनिंदा व्यंग्यकारों में शामिल हैं जिनके गद्य और पद्य दोनों को बराबर मान्यता मिली. पंकज प्रसून के पहले व्यंग्य कविता संग्रह 'जनहित में जारी' के लिए हिंदी संस्थान का वर्ष 2014 का प्रतिष्ठित डा रांगेय राधव पुरस्कार से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सम्मानित किया था. विज्ञान प्रसार दिल्ली से प्रकाशित इनकी दूसरी पुस्तक 'परमाणु से प्रेम करो' परमाणु जागरूकता पर लिखी गयी कविता की पहली पुस्तक है. इस वर्ष विश्व पुस्तक मेला दिल्ली में पंकज प्रसून की तीसरी पुस्तक 'पंच प्रपंच' प्रकाशित हुई जिसमें देश के चार बड़े व्यंग्यकारों( डा ज्ञान चतुर्वेदी, गोपाल चतुर्वेदी, आलोक पुराणिक और सुशील सिद्धार्थ) के साथ शामिल हैं.

पंकज कई राष्ट्रीय स्तर के पत्र पत्रिकाओं में लेखन कर रहे हैं. सब टीवी के वाह वाह क्या बात,इंडिया टीवी, आजतक, ,ईटीवी, के साथ आकाशवाणी और दूरदर्शन से व्यंग्य पाठ के लिए निरन्तर आमन्त्रित किया जाता रहा है. चूंकि पंकज प्रसून पेशे से वैज्ञानिक हैं इसलिए कविताओं के माध्यम से देश भर में बिज्ञान की अलख भी जगा रहे हैं. पिछले दिनों पंकज को अजमेर लिटरेचर फेस्टिवल में अशोक चक्रधर, यशवन्त व्यास के साथ बतौर व्यंग्य विशेषज्ञ आमन्त्रित किया गया था. नोटबंदी पर पंकज प्रसून का एक व्यंग्य पिछले दिनों वायरल हो गया था जिसके हजारों शेयर हुए. डा कुमार विश्वास ने इसको अपने फेसबुक वाल पर भी शेयर किया था.

सम्मान- डा रांगेय राधव पुरस्कार, युवा रत्न सम्मान,शान्ति साहित्य सम्मान, 35 वां श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान,अस्तित्व सम्मान,हस्ताक्षर इंडिया एवार्ड,नसीम अख्तर सिद्दीकी अवार्ड, सत्यपथ सम्मान आदि।

कुछ मशहूर पंक्तियाँ-

कुर्सी का पानी से गहरा नाता है
कुर्सी छिनते ही आँखों में पानी भर जाता है
और कुर्सी मिलते ही आँखों का पानी मर जाता है

#

हमारे देश में दो तरह के गांधीवादी पाये जाते हैं
पहले जो महात्मा गांधी मार्ग पर चलते हैं
और दूसरे जो महात्मा गांधी मार्ग बनवाते हैं

#

वह नीति जो एक नेता को राजा बनाती है
राजनीति कहलाती है
और वह नीति जो जनता को कूटने के काम आती है
कूटनीति कहलाती है

#

हमारे देश में दो तरह के गांधीवादी पाये जाते हैं

पहले जो महात्मा गांधी मार्ग पर चलते हैं

और दूसरे जो महात्मा गांधी मार्ग बनवाते हैं




Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top