Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बिहार की तरह बीजेपी की यूपी में भी होगी हार: मायावती

 Girish |  2017-01-21 06:05:34.0

बिहार की तरह बीजेपी की यूपी में भी होगी हार: मायावती

लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को कहा कि सपा और बीजेपी दलित विरोधी है। समाजवादी पार्टी के पांच साल और केंद्र की ढ़ाई साल के कार्यकाल में दोनों ही सरकारो ने दलित, किसान विरोधी काम किया है। यूपी और केंद्र सरकार की नीतियों से जनता त्रस्त हो चुकी है। साथ ही कांग्रेस को असहाय करार देते हुए कहा कि उसे तो उम्मीदवार ही नहीं मिल रहे हैं। वहीं, इस दौरान सपा के पूर्व कैबिनेट मंत्री और मुलायम सिंह यादव के खास माने जाने वाले अंबिका चौधरी ने समाजवादी पार्टी के सभी पदों और सदस्‍यता से इस्‍तीफा देकर बसपा में शामिल हो गए हैं।

मायावती ने कहा कि BJP ने अभी तक मुख्यमंत्री पद का चेहरा नहीं घोषित किया। बीएसपी अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ रही है। बीएसपी ने सबसे पहले अपने प्रत्याशी घोषित किये। उन्‍होंने कहा कि आरक्षण बचाने के लिए BSP को वोट दें। मायावती ने कहा कि दलित, पिछड़े वर्ग के लोग और उच्च वर्ग के गरीब लोगों को भी आरक्षण मिलना चाहिए। BJP,RSS प्रत्याशियों को दलित, पिछड़े वर्ग के लोग हराए। 5 राज्यों मे हो रहे चुनाव मे दलित, पिछड़े वर्ग के लोग BJP को हराए। मायावती ने कहा कि आरक्षण खत्म करने के लिए कानून बनाना पड़ेगा। अगर आरक्षण खत्म हुआ तो दलित, पिछड़े वर्ग के आक्रोशित होंगे। RSS,BJP दलितों, पिछड़ों के अधिकारों को नहीं छीन सकती।

इससे पहले मायावती ने कहा कि बिहार की तरह बीजेपी की यूपी में भी हार होगी। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी की गलत नीतियों के कारण अब कोई दांव नहीं चलेगा। यूपी में इस बार बीएसपी एकमात्र विकल्‍प है, बसपा की ही सरकार बनेगी। सपा, कांग्रेस और बीजेपी मिली हुई है। जनता इनको सबक सिखाएगी।

मायावती ने कहा कि सपा सरकार अपराध नियंत्रण में फेल रही है। यूपी में कानून व्‍यवस्‍था खराब है। दादरी की घटना सपा सरकार की देन है। मथुरा के जवाहरबाग हत्याकांड में पुलिस अफसर की जान गई। सपा सरकार में लूट, हत्या, महिला उत्पीड़न के अपराध, अवैध कब्जे, सांप्रदायिक दंगो की घटनाएं, मुजफ्फरनगर समेत अबतक 500 दंगे हुए हैं। सपा सरकार में हर तरफ जनता असुरक्षा महसूस कर रही है।

मायावती ने कहा कि सपा के दागी चेहरे को आम जनता पसंद नहीं करती है। प्रदेश की जनता तय करे किसको लाना है। क्या प्रदेश की जनता दागी चेहरे को वोट देगी। उन्‍होंने कहा कि BSP सरकार में कानून व्यवस्था दुरुस्त रहती है। सपा सरकार में सांप्रदायिक तत्वों का बोलबाला है। अपराधियों को शह दी जा रही।

मायावती ने कहा कि सपा के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह यादव कुछ समय से नाटकबाजी कर रहे हैं। मुलायम सिंह यादव पुत्र मोह में नाटकबाजी कर रहे हैं। अपने बेटे की विफलता को छुपाने के लिए सपा में नाटकबाजी कर रहे हैं। सपा की ड्रामेबाजी और कांग्रेस बेनकाब हो गई है। यूपी में कांग्रेस की हालत बहुत खराब है। सपा के साथ कांग्रेस ने गठबंधन करना स्वीकार किया। कांग्रेस अपने प्रत्याशियो पर निर्णय नही ले पाई है। सपा के दागी चेहरे के सामने कांग्रेस ने अपने घुटने टेक दिया। मायावती ने कहा कि कांग्रेस-सपा की BJP से मिलीभगत है। मायावती ने कहा कि बसपा सर्व जन हिताय, सर्वजन जन सुखाय पर काम कर रही है। सपा और कांग्रेस बीएसपी को सत्ता में आने से रोकना चाहती है।

वहीं, मायावती ने कहा कि शिवपाल यादव अब अखिलेश खेमे को चुनाव में अंदर अंदर हराएंगे, ऐसी रिपोर्ट मिल रही है।

मायावती ने कहा कि -
-सपा परिवार में सोचा-समझा नाटक हुआ
-बेटे के मोह में मुलायम नाटक कर रहे हैं
-शिवपाल को बलि का बकरा बना दिया.
-कांग्रेस का असली चेहरा सामने आया
-सपा के आगे कांग्रेस भी नतमस्तक
- कांग्रेस को उम्मीदवार भी नहीं मिल रहे
-यूपी में कांग्रेस का दिवालियापन सामने आया
-सपा सरकार की सत्ता में वापसी नामुमकिन
-यूपी को जंगलराज से मुक्त कराना है
-केंद्र और राज्य की नीतियों से जनता नाराज
-वर्तमान सरकार से जनता त्रस्त
-अपराध रोकने में अखिलेश सरकार नाकाम
-यूपी में दागी चेहरे लोगों को पसंद नहीं
-लोगों को बीएसपी को वोट देना चाहिए, बीएसपी का वोट आधार बहुत मजबूत है
-सपा को वोट देकर अपना वोट बर्बाद न करें
-केंद्र सरकार किसान विरोधी
-सपा का वोटर दो खेमों में बंटा
-बीएसपी को रोकने की साजिश रची जा रही है
-अल्पसंख्यकों को बीएसपी को वोट देना चाहिए, वोट बर्बाद ना करें


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top