Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल ने उठाये सैफुल्लाह इनकाउंटर पर सवाल, बताया दूसरा बटाला काण्ड

 2017-03-10 17:30:46.0

राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल ने उठाये सैफुल्लाह इनकाउंटर पर सवाल, बताया दूसरा बटाला काण्ड


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी मदनी ने लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र में आतंकी सैफुल्लाह और एटीएस के साथ हुई मुठभेड़ को फर्जी करार देते हुए इस इनकाउंटर को बटाला हाउस जैसा बता दिया है. मदनी का दावा है कि पुलिस पूरे मामले की गलत जानकारी दे रही है.

आमिर रशादी के इस बयान के बाद पुलिस फ़ौरन हरकत में आ गई. एडीजी ला एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने आमिर रशादी के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने और सूबे का माहौल खराब करने की धाराओं में मुक़दमा दर्ज करने के लिये कानपुर के एसएसपी को निर्देश दिया है. इस निर्देश के बाद उनके खिलाफ मुक़दमा दर्ज भी हो गया है. अपने खिलाफ केस दर्ज होने के बाद भी आमिर रशादी अपनी बात से पीछे नहीं हेट और उन्होंने कानपुर में पत्रकारों से कहा कि यह इनकाउंटर बटाला हाउस एनकाउंटर जैसा फर्जी है.

उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सैफुल्लाह के परिवार के लोगों से मुलाक़ात की और सैफुल्लाह के एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, और आरएसएस के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की. इस इनकाउंटर के खिलाफ मुसलमानों से उन्होंने एकजुट होने को कहा. उन्होंने कहा कि सैफुल्लाह आतंकी नहीं था बल्कि यह सरकार ही आतंकी है. पुलिस ने झूठी कहानी गढ़ी, पहले उसे घर के भीतर बंधक बनाया, फिर घेरकर मार दिया.

आमिर रशादी ने अखिलेश यादव और आरएसएस के मिल जाने और एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी द्वारा इस इनकाउंटर की योजना बनाने का आरोप लगाया.
आमिर रशादी हाल ही में बहुजन समाज पार्टी को समर्थन देने के बाद भी चर्चा का केन्द्र बने थे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top