सपा के पूर्व विधायक के खिलाफ हत्‍या का केस, करेंगे कोर्ट में सरेंडर

 2017-03-29 04:52:46.0

सपा के पूर्व विधायक के खिलाफ हत्‍या का केस, करेंगे कोर्ट में सरेंडर

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
इलाहाबाद. उच्च न्यायालय ने यूपी के हाथरस में पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्यायय के बेटे चिराग उपाध्याय पर हमले में हुई मौत के मामले में नामजद आरोपी समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक देवेन्द्र अग्रवाल सहित अन्य को कोर्ट में समर्पण करने को कहा है और तीन अप्रैल को रिपोर्ट मांगी है।

रामहरि शर्मा की याचिका की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश डी.बी. भोसले तथा न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खण्डपीठ कर रही है। हत्या के मामले में पुलिस की ढीली विवेचना को लेकर मृतक के पिता ने याचिका दाखिल की है। कोर्ट ने विवेचना के तरीके पर नाराजगी व्यक्त करते हुए नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी न करने पर फटकार लगायी।

इस आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने एसएलपी खारिज भी कर दी है। इसके बाद अग्रवाल के अधिवक्ता ने कोर्ट में समर्पण के लिए समय मांगा। कोर्ट ने कहा कि सभी नामजद आरोपियों को समर्पण करना चाहिए। सुनवाई तीन अप्रैल को होगी।

अर्जी घटना में मारे गये युवक पुष्पेन्द्र के पिता रामहरि शर्मा द्वारा दाखिल की गयी है। अर्जी में कहा गया है कि आठ फरवरी को हाथरस में पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय के पुत्र चिरागवीर उपाध्याय चुनाव प्रचार कर रहे थे। उनकी गाड़ी को बीस-पचीस असलहाधारियों ने घेर लिया और ताबड़तोड़ फायरिंग की। इस घटना में चिराग के साथ मौजूद पुष्पेन्द्र शर्मा की मृत्यु हो गयी। चार-पांच लोगों को चोटें भी आईं थी।

याची ने तत्कालीन सपा विधायक देवेन्द्र अग्रवाल और ग्यारह अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। जांच में पन्द्रह और लोगों का नाम सामने आया। इसके बाद विवेचना अलीगढ़ क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई। याची का कहना था कि पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर रही है।

Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top