ईवीएम के ज़रिये बड़ी धांधली का आरोप लगाकर मायावती ने चुनाव रद्द करने की मांग की

 2017-03-11 08:21:35.0

ईवीएम के ज़रिये बड़ी धांधली का आरोप लगाकर मायावती ने चुनाव रद्द करने की मांग की

तहलका न्यूज़ ब्यूरो 

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने यूपी चुनाव में ईवीएम के ज़रिये बड़ी धांधली का आरोप लगाते हुए चुनाव रद्द करने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि इस तरह का चुनाव होगा तो लोकतंत्र खतरे में पड़ जायेगा. मायावती ने सवाल उठाया कि जिन मुसलमानों ने बसपा को वोट दिया वह वोट आखिर कहाँ चला गया. उन्होंने कहा कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में भी भारतीय जनता पार्टी की जीत यह बताती है कि ईवीएम मशीनों को मैनेज किया गया है. इस चुनाव में ज़बरदस्त धांधली हुई है. यूपी में यह चर्चा आम रही कि बटन कोई भी दबाव लेकिन वोट कमल को पड़ रहा था. इसकी शिकायत कई जगह की गई लेकिन चुनाव आयोग ने इस शिकायत पर ध्यान नहीं दिया.

अभी हाल में मेरी एक प्रेस कांफ्रेंस में एक पत्रकार ने यह सवाल भी उठाया था कि बटन कोई भी दबाओ लेकिन वोट कमल को जा रहा है. तब मैंने उस पत्रकार की बात पर ध्यान नहीं दिया था. आज मुझे विश्वास हो गया कि उसकी बात बिलकुल सही है.

2014 के लोकसभा चुनाव और इस बार के यूपी और उत्तराखंड चुनाव परिणाम से यह साबित हो गया है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई. यह लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरे की बात है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपने पूर्ण बहुमत से बहुत खुश हो रही है लेकिन मैं प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को खुली चुनौती देती हूँ कि उनमें अगर थोड़ी भी ईमानदारी है और अपनी जीत पर उन्हें इतना भरोसा है तो उन्हें पुरानी व्यवस्था से चुनाव कराना चाहिये. 

मायावती ने कहा कि अगर वह चुनाव में जीत के प्रति इतना आश्वस्त हैं तो उन्हें पुरानी परम्परा से चुनाव कराकर अपनी ताक़त देख लें उन्होंने कहा कि अगर इस तरह का चुनाव होगा तो लोकतंत्र की परम्परा खत्म हो जायेगी. मायावती ने सभी विपक्षी दलों का आह्वान किया कि लोकतंत्र ओ बचाने के लिये ईवीएम की धांधली के खिलाफ आवाज़ उठायें.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top