Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

डिजिटलाइजेशन से भविष्य सुरक्षित होगा: हेमंत तिवारी

 Avinash |  2017-02-22 14:59:11.0

डिजिटलाइजेशन से भविष्य सुरक्षित होगा: हेमंत तिवारी

तहलका न्यूज़ ब्यूरो
लखनऊ. राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवियों को आजीवन राष्ट्र सेवा से जोडऩे के लिए उनके पूरे डाटा को डिजिटल रूप से एकत्र करने के लखनऊ विश्व विद्यालय में आयोजित कार्यशाला संपन्न हो गयी। राष्ट्रीय सेवा योजना और यूनाइट फाउण्डेशन द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक दिन की कार्यशाला में मुख्य अतिथि अमरेन्द्र कुमार दुबे (आई.ए.एस.) सचिव, युवा कार्यक्रम एवं खेलकूद मंत्रालय, भारत सरकार थे।

कार्यक्रम में शिरकत करते हुए वरिष्ठ पत्रकार हेमंत तिवारी ने कहा कि डिजिटलाइजेशन होने से आगे का रास्ता साफ हो जायेगा। यह दो वर्ष के लिए नही है। पीएम जो काम कर रहे है वह एनएसएस का क्रीम प्वाइंट है। जिससे समाज का निर्माण होना है। उन्होने कहा कि समाज में अच्छे ज्ञान को ग्रहण कर खराब का त्याग करते चलों। पत्रकारिता एक मिशन है, इसके लिए लगातार ज्ञान बढ़ाते रहो, आंख, नाक, कान को हमेशा खुला रखेा।

न्यूज टाइम्स के चेयरमैन और यूनाइट फाउण्डेशन के सचिव सौरभ मिश्रा ने कहा कि यूनाइट फाउण्डेश और न्यूज टाइम्स जनता की भागीदारी में विश्वास रखता है। उन्होने कहा कि आप जो काम करते है वह करे और खाली समय में अपने मिशन के लिए कार्य करें। अपने लक्ष्य को पाना है तो 2-3 साल मेहनत तो करनी होगी, तभी खुद खुश रहेंगे और दूसरों को खुश रखेंगे।



अनु सिंह सहायक रजिस्ट्रार कारपोरेट कार्य मंत्रालय ,भारत सरकार ने कहा कि एनएसएस समाज के लिए जरूरी है, अपना योगदान करें। यही आगे जीवन में काम भी आयेगा। इस अवसर पर 17 फरवरी 2017 को आयोजित एनएसएस और यूनाइट फाउण्डेशन द्वारा हुए कार्यक्रम की एक स्मारिका का विमोचन भी किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रो. यू. एन. द्विवेदी, प्रति कुलपति लखनऊ विश्व विद्यालय, डा. अशोक श्रोती क्षेत्रीय निदेशक एनएसएस, प्रो. अंशुमाली शर्मा विशेष कार्याधिकारी एवं राज्य संपर्क अधिकारी एनएसएस, अनु सिंह सहायक रजिस्ट्रार कारपोरेट कार्य मंत्रालय भारत सरकार, वीरेन्द्र मिश्रा एक्सक्यूटिव डायरेक्टर नेहरू युवा केन्द्र भारत सरकार, यूनाइट फाउण्डेशन के सचिव सौरभ मिश्रा, अध्यक्ष पियूष कांत मिश्रा, वरिष्ठ पत्रकार हेमंत तिवारी, न्यूज टाइम्स के संपादक भास्कर दुबे, राधेश्याम दीक्षित, प्रणय विक्रम सिंह आदि लोग मौजूद थे। वहीं 500 से ज्यादा एनएसएस के स्वयंसेवी और लखनऊ विश्व विद्यालय के प्रोफेसर आदि मौजूद थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top