Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राजभवन में दो दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी के विजेताओं को राज्यपाल ने सम्मानित किया

 shabahat |  2017-02-26 17:29:56.0

राजभवन में दो दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी के विजेताओं को राज्यपाल ने सम्मानित किया


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने प्रादेशिक फल-शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी के समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह में कहा कि दिल्ली देश की राजनैतिक राजधानी है, मुंबई आर्थिक राजधानी है, काशी सांस्कृतिक राजधानी है और लखनऊ कला की राजधानी है. लखनऊ में अनेक प्रकार के आयोजन होते रहते हैं जिसमें पुष्प प्रदर्शनी भी अपना महत्व रखती है. राजभवन प्रागंण में आयोजित होने वाली इस प्रादेशिक प्रदर्शनी का प्रारम्भ 1936 में हुआ था. उन्नत प्रकार के फूल, फल, शाकभाजी को बढ़ावा देने की दृष्टि से आयोजित इस प्रदर्शनी का लाभ किसानों तथा फल-फूल से जुडे़ व्यवसाय करने वालों को पहुँचना चाहिए. फूलों की मांग व्यवसाय का रूप ले चुका है. विदेशों से भी फूल आयात किये जा रहे हैं. फूलों की खेती एक कला है जिसे धैर्य एवं मेहनत से सीखा जा सकता है. उन्होंने कहा कि फूल मनुष्य को नेत्र सुख देते हैं.

राज्यपाल ने कहा कि गेहूं, चावल और दलहनी जैसी पारम्परिक खेती के साथ-साथ फल-फूल और सब्जी के उत्पादन पर भी ध्यान देने की जरूरत है. किसान राजभवन में आयोजित प्रदर्शनी से प्रेरणा लेकर फल-फूल एवं सब्जी की खेती में सुधार कर सकते हैं. पारम्परिक खेती के साथ फूल एवं फल की खेती पूरक खेती के रूप में की जा सकती है. उद्यान विभाग द्वारा दिये जा रहे प्रशिक्षण का लाभ उठाकर खेती में ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाया जा सकता है. देश में बढ़ रहे नगरीकरण के कारण ग्रामीण क्षेत्रों से लोग शहर की तरफ पलायन कर रहे हैं. इससे जहाँ एक ओर शहरों पर दबाव बढ़ रहा है वही प्रदूषण की समस्या भी बढ़ रही है. गाँव में रोजगार उपलब्ध कराने के लिये उन्नत खेती का प्रयोग होना चाहिये. उन्होंने कहा कि किसानों को सही दिशा मिले तो ज्यादा लाभ हो सकता है.

इस प्रदर्शनी में कुल 45 वर्गों की आयोजित प्रतियोगिताओं में अंसल एपीआई, सुशान्त गोल्फ सिटी लखनऊ ने सर्वाधिक पुरस्कार अर्जित किये, जिसके लिए इनको नगद 7,000/- की धनराशि प्रदान कर सम्मानित किया गया. इसके साथ ही प्रदर्शनी में स्वर्गीय जंग बहादुर सिंह मेमोरियल चल कप श्रीमती मंजू वर्मा, 50-क्ले स्क्वायर, लखनऊ को गमलों में लगी शाकभाजी तथा अंसल ए.पी.आई. सुशान्त गोल्फ सिटी, लखनऊ को गमले में लगी डहेलिया के प्रदर्श संयुक्त रूप से सर्वोत्तम घोषित किये गये, जिसके लिए इन्हें नगद 3,000/- प्रदान कर पुरस्कृत किया गया. सर्वोत्तम गुलाब का पुरस्कार आर.के. आहूजा, प्रबन्धक (टी./एस.), एच.ए.एल, लखनऊ द्वारा प्रदर्शित गुलाब के प्रदर्श को दिया गया जिसके लिए इन्हें एक आकर्षक वैजयन्ती प्रदान की गयी. कलात्मक पुष्प सज्जा वर्ग मे श्रीमती राजेश्वरी कुमार, होटल क्लार्क अवध, लखनऊ सर्वोत्तम रहीं. इसके साथ ही कलात्मक पुष्प सज्जा के विभिन्न वर्गो में राजीव दूबे, रेहान अहमद, शिवांगी अग्निहोत्री, नवशीन खान तथा सार्थक गौड़ सर्वोत्तम रहे.

प्रदर्शनी के अन्तर्गत आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में शेख अब्दुल्ला शील्ड, (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-505) 10,000 वर्ग मीटर से 12,000 वर्ग मीटर तक के उद्यान के विजेता के लिये, वरिष्ठ रजिस्ट्रार उच्च न्यायालय, लखनऊ, राज्यपाल चल बैजयन्ती (भाग-2 क्लास-35 वर्ग-468) 400 वर्ग मीटर से 500 वर्ग मीटर तक के उद्यान के विजेता के लिये ए.के. लाहोटी, मण्डल रेल प्रबन्धक, 12-वी.डी. मार्ग, बंदरियाबाग, लखनऊ, अंसल ए.पी.आई. सुशान्त गोल्फ सिटी, चल ट्राफी (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-504) राजकीय निवास उद्यान-8,000 वर्ग मीटर से 10,000 वर्ग मीटर तक के उद्यान विजेता के लिये अधीक्षक, राजभवन उद्यान, लखनऊ, पं. स्वर्गीय राम स्वरूप शर्मा चल बैजयन्ती (भाग-2 क्लास-35 वर्ग-464) (100 वर्ग मीटर से कम के उद्यान के विजेता के लिये प्रशान्त कुमार सिंह, 6-ए विक्रमादित्य मार्ग, बंदरियाबाग, लखनऊ, राम मनोहर त्रिपाठी चल बैजयन्ती (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-486) कार्यालय उद्यान-2,000 वर्ग मीटर से अधिक के उद्यान के विजेता के लिये अपर पुलिस महानिदेशक, पी.ए.सी., मुख्यालय महानगर, लखनऊ, शेख अब्दुल्ला शील्ड (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-489) शिक्षा संस्थाओं के उद्यान-1,500 वर्ग मीटर से 2,000 वर्ग मीटर तक के उद्यान के विजेता के लिये नगर आयुक्त, नगर निगम, लखनऊ, रमाशंकर मिश्र रनिंग शील्ड (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-479) राजकीय कम्पाउण्ड-100 वर्ग मीटर से 300 वर्ग मीटर तक के उद्यान के विजेता के लिये निदेशक भारतीय रेल परिवहन प्रबन्धन संस्थान, हरदोई रोड, लखनऊ, कुंवर गुरू प्रसाद सिंह चल बैजयन्ती (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-482) राजकीय कम्पाउण्ड-1,000 वर्ग मीटर से 2,000 वर्ग मीटर तक के उद्यान के विजेता के लिये सेनापति मध्य कमान कार्यालय, 27-कस्तूरबा मार्ग, लखनऊ कैन्ट राज्यपाल चल वैजयन्ती (भाग-2 क्लास-36 वर्ग-516) औषधीय उद्यान/पार्क 100 वर्ग मीटर से अधिक के हो, के विजेता के लिये डा. शिव शंकर त्रिपाठी, प्रभारी चिकित्साधिकारी आयुर्वेद राजभवन एवं प्रभारी अधिकारी धनवन्तरि वाटिका राजभवन, लखनऊ तथा राम रतन पाठक चल कप (भाग-2 क्लास-27) गमलों में लगी शाकभाजी सभी प्रदर्शनकर्ताओं के लिए श्रीमती मंजू वर्मा, 50-क्ले स्क्वायर, कबीरमार्ग, लखनऊ को अपने-अपने श्रेणियों में सर्वोत्तम घोषित करते हुए राज्यपाल द्वारा चल बैजयन्ती/शील्ड/ट्राफी प्रदान कर सम्मानित किया गया.

इस अवसर पर कृषि उत्पादन आयुक्त प्रदीप भटनागर, प्रमुख सचिव उद्यान सुधीर गर्ग, निदेशक उद्यान सी.पी. जोशी ने भी अपने विचार रखे. प्रदर्शनी के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए प्रादेशिक पुष्प प्रदर्शनी समिति के अवैतनिक सचिव डा. धर्म पाल यादव ने सभी को धन्यवाद दिया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top