Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

LIVE: वोटिंग के दौरान महोबा में फायरिंग, सपा प्रत्‍याशी का बेटा हुआ जख्मी

 Abhishek Tripathi |  2017-02-23 02:41:36.0

LIVE: वोटिंग के दौरान महोबा में फायरिंग, सपा प्रत्‍याशी का बेटा हुआ जख्मी

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
महोबा. यूपी विधानसभा के चौथे चरण के अंतर्गत 12 जिलों की 53 विधानसभा सीटों पर वोटिंग जारी है। इस बीच महोबा और रायबरेली जिले से हिंसा की सूचना मिल रही है। बताया जा रहा है कि महोबा में वोटिंग के दौरान सपा और बसपा समर्थक आमने-सामने आ गए। दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच जमकर फायरिंग भी हुई। फायरिंग में सपा प्रत्‍याशी के बेटे समेत कई लोगों के जख्मी होने की सूचना मिली है। वहीं, सूचना है कि रायबरेली में सदर से रालोद प्रत्‍याशी पर भी किसी अज्ञात ने फा‍यरिंग कर दी। फायरिंग की सूचना से आस-पास के लोगों में हड़कंप मच गया।

सुरक्षा की नजर से भारी पुलिस बल तैनात निर्वाचन आयोग के अनुसार चौथे चरण में इस बार 18 से 19 साल के तीन लाख 26 हजार 473 मतदाता वोट डाल सकेंगे। चौथे चरण के मतदान के लिए कुल 12 हजार 492 मतदान केन्द्र और 19 हजार 487 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। मतदान की व्यवस्थाओं पर नजर रखने के लिए 51 पर्यवेक्षकों, 8 पुलिस पर्यवेक्षकों, 2090 सूक्ष्म पर्यवेक्षक, 1643 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 222 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 318 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात किये गए हैं। इस चरण के लिए 3609 मतदान केन्द्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। मतदान को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए पर्याप्त संख्या में केन्द्रीय बल तथा पुलिस बल तैनात किया गया है।

680 उम्मीदवारों की किस्मत का होगा फैसला
चौथे चरण में 84 हजार महिला और 1032 अन्य समेत एक करोड़ 84 लाख मतदाता हैं। इस चरण में इलाहाबाद उत्तरी सीट पर सबसे ज्यादा 26 प्रत्याशी मैदान में हैं, वहीं खागा (फतेहपुर), मंझनपुर (कौशाम्बी) और कुंडा (प्रतापगढ़) में सबसे कम 6-6 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। चौथे चरण में विभिन्न पार्टियों के शीर्ष नेताआें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सपा अध्यक्ष मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी, बसपा मुखिया मायावती ,गृह मंत्री राजनाथ सिंह समेत अनेक केन्द्रीय मंत्रियों ने अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में प्रचार कार्य में पूरी ताकत झोंक दी। हालांकि वर्ष 1998 के बाद यह पहला मौका है, जब सोनिया ने अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली में चुनाव प्रचार नहीं किया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top