Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

लीक से हटकर काम करने वाले 33 पुलिसकर्मियों को सम्मानित करेंगे डीजीपी

 2017-03-10 16:25:55.0

लीक से हटकर काम करने वाले 33 पुलिसकर्मियों को सम्मानित करेंगे डीजीपी


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने वर्ष 2016 में अपने कर्तव्य के अतिरिक्त लीक से हट कर कार्य करने वाले 33 पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देने का फैसला किया है. पुलिस महानिदेशक ने इस सम्बन्ध में लीक से हटकर कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों के सन्दर्भ में उत्तर प्रदेश के सभी जिलों से सूचनाएं माँगी थीं.

पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने बताया कि चुने गये इन पुलिस कर्मियों ने अपने कर्तव्य के अलावा लीक से हटकर कार्य किया है. इससे समाज में पुलिस की छवि उज्ज्वल हुई है. इन पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र निर्गत किया जा रहा है. इस प्रकार का प्रशस्ति पत्र प्रदेश में पुलिस महानिदेशक की ओर से पहली बार दिया जा रहा है. पुलिस महानिदेशक ने अपेक्षा की है कि इनसे प्रेरित होकर अन्य पुलिस कर्मी भी समाज में लीक से हटकर मानवतापूर्वक कार्य करेंगे.

पुलिस विभाग में पहली बार इस तरह के सम्मान से अलंकृत होने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की बात करें तो जनपद सीतापुर के आरक्षी हरि मिलन और महिला आरक्षी उषा कुमारी का नाम सबसे पहले सामने आता है. हरि मिलन उषा कुमारी को 02 सितम्बर 2016 को सिधौली रेलवे स्टेशन के पास एक नवजात शिशु के मिलने की सूचना मिली. उन्होंने तत्काल बिना समय बर्बाद किये सीएचसी सिधौली ले जाकर उसका प्राथमिक उपचार कराया. जिससे नवजात शिशु की जान बच गई.

लखनऊ के सब इन्स्पेक्टर अशोक कुमार सिंह को 11 अगस्त 2016 को इन्दिरा नहर में चिनहट निवासी रज्जाक के डूबने की सूचना मिली. थाना चिनहट में नियुक्त सब इन्स्पेक्टर ने इन्दिरा नहर पर पहुंचकर काफी कोशिशों के बाद रज्जाक को नहर से निकालकर उनकी जान बचा ली.

इसी तरह जनपद बस्ती में 7 सितम्बर 2016 को ट्विटर के माध्यम से सूचना मिली कि ग्राम रसूलपुर के जगदेव सोनार नाम का व्यक्ति अपनी पोलियोग्रस्त पत्नी को प्रताड़ित कर रहा है. उसने उसे एक कमरे में बन्द कर रखा है. इस सूचना पर इन्स्पेक्टर आर.के.गौतम, सिपाही सुमित कुमार, सिपाही टिंकू कुमार और सिपाही ब्रजकिशोर ने तत्काल मौके पर पहुंचकर कमरे में कैद श्रीमती कंचन को मुक्त कराकर पीड़ित की आर्थिक मदद की और उनका समुचित इलाज भी कराया. ट्विटर पर यह सूचना डीजीपी मुख्यालय में तैनात सोशल मीडिया सेल के प्रभारी सत्येन्द्र प्रकाश पाण्डेय और कुलदीप किशोर तिवारी को मिली थी. श्री पांडे ने सूचना मिलने के बाद तत्काल बस्ती के सोशल मीडिया सेल से संपर्क किया. इस तरह से पीड़ित महिला को न्याय मिल सका.

जनपद बस्ती में 13 जुलाई 2016 को ग्राम उमरा खास में राम प्रसाद गुप्ता की पुत्री की शादी थी, शाम को ही बारात आनी थी. अचानक गैस चूल्हे में आग लग जाने के कारण पुत्री को दिये जाने वाला दान का सारा सामान जलकर नष्ट हो गया. सूचना पर मौके पर तत्काल रणधीर कुमार मिश्र मय पुलिस बल पहुंचे और उन्होंने स्वयं, गांव के कोटेदार एवं ग्राम प्रधानों की मदद से सामानों की व्यवस्था कराकर शादी को सकुशल सम्पन्न करा दिया.

जनपद गाजियाबाद में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार की पहल पर गाजियाबाद पुलिस द्वारा कैंसर पीड़ित विदेशी महिला श्रीमती डोरेस फ्रांसिस को ईलाज के लिये एक दिन का वेतन देकर सहयोग प्रदान किया गया.

जनपद गाजियाबाद पुलिस को ट्विटर के माध्यम से जानकारी मिली कि शास्त्रीनगर में रहने वाले वसीम आत्महत्या करने वाले हैं. यह सूचना प्राप्त होने पर मुख्यालय द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में तत्काल चौकी प्रभारी शास्त्रीनगर रिंकू कुमार वसीम के पास पहुँच गये. बातचीत में पता चला कि वह सूदखोरों से परेशान है. इसके बाद उसे समझा बुझाकर आत्महत्या किये जाने से रोका गया और सूदखोरों के खिलाफ कार्यवाही की गयी. सीतापुर में तैनात सब इन्स्पेक्टर संतोष कुमार सिंह और सुल्तानपुर में तैनात सिपाही सुरेन्द्र कन्नौजिया ने ट्विटर पर वसीम द्वारा आत्महत्या की तैयारी की खबर पर तत्काल गाज़ियाबाद पुलिस से संपर्क साधा गया. इन दोनों पुलिसकर्मियों की सक्रियता की वजह से इन्हें भी प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा.

डीजीपी मुख्यालय में तैनात अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने दीपावली के मौके पर अपने परिवार सहित अनाथालय आश्रम ''मनीषा संस्थान'' में जाकर पांच हजार रूपये का चेक दिया और मिठाई तथा पटाखे आदि दिये ताकि अनाथ बच्चे अच्छी तरह से दीवाली मना सकें.

राजधानी लखनऊ में 03 नवम्बर 2016 को अपरान्ह लगभग 2 बजे थाना महानगर क्षेत्रान्तर्गत हनुमान सेतु के पास एक लड़की के गोमती में कूदकर आत्महत्या का प्रयास करने की सूचना मिली. इस सूचना पर न्यू हैदराबाद के चौकी प्रभारी दिलीप कुमार मिश्रा ने तत्काल मौके पर पहुंचकर सीमा माथुर पुत्री बी.पी. माथुर निवासी 107, विनायक नगर विकास नगर को गोमती नदी में कूदने से बचाया.

जनपद खीरी में 12 अक्टूबर 2016 को ग्राम गोधिया थाना भीरा जनपद खीरी के अन्तर्गत ताजिया के जुलूस के दौरान एक व्यक्ति मार्ग में घायल अवस्था में दिखाई दिया, इसे देखते ही तत्काल सब इन्स्पेक्टर अजय कुमार शर्मा घायल अवस्था में पड़े व्यक्ति को कंधे पर उठाकर काफी दूर सरकारी गाड़ी तक ले गये. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिजुआ पहुंचाकर उसका ईलाज कराया.

जनपद मुजफ्फरनगर के थाना जानसठ परिसर में गरीब परिवार की पुत्री कु. नसरीन की शादी धनंजय मिश्रा, प्रभारी निरीक्षक जानसठ और अजय पाल गौतम द्वारा अपने सहयोगी स्टाफ के सहयोग से आपस में अपनी सामर्थ्य के अनुसार करीब 1.5 लाख एकत्र कर घरेलू सामान आदि क्रय कर करायी गयी.

जनपद औरैया के डिप्टी एसपी शिवराज ने एक वृद्ध महिला श्रीमती सोमवती उर्फ केतकी पत्नी भोला निवासी पूर्वा दीक्षित द्वारा अपने पुत्रों के द्वारा दुर्व्यवहार किये जाने के फलस्वरूप थाना बिधूना पर शिकायत किये जाने पर स्थानीय पुलिस के द्वारा किये गये मानवीय व्यवहार से वह द्रवित हो गयीं एवं थाने में रहने की इच्छा जाहिर की. जिसके परिणामस्वरूप थाना परिसर में बने एक कमरे में उन्हें आवासित कराकर भोजन एवं कपड़ा आदि की व्यवस्था की गयी.

लखनऊ में नोटबन्दी के बाद शादी में गेस्ट हाउस के प्रबन्धक के द्वारा चेक न स्वीकार किये जाने की सूचना प्राप्त होने पर थाना कृष्णानगर के इन्स्पेक्टर सुजीत कुमार दुबे ने हस्तक्षेप किया. इसके बाद गेस्ट हाउस के प्रबन्धक ने चेक स्वीकार की. जिससे शादी सकुशल सम्पन्न हुई.

जनपद बाराबंकी में 4 सितम्बर 2016 को सब इन्स्पेक्टर अवधेश कुमार यादव, तत्कालीन थानाध्यक्ष मसौली द्वारा महादेवा से लौट रहे 20 श्रद्वालुओं से भरी ट्रैक्टर-ट्राली चालक के नींद आ जाने के कारण उक्त ट्रैक्टर-ट्राली तालाब में पलट गयी. जिसमें 5 लोग ट्राली के नीचे आ गये. इस घटना के उपरान्त इस सब इन्स्पेक्टर ने पानी में कूदकर 5 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालकर जिला अस्पताल पहुंचाया गया.

लखनऊ में 26 अप्रैल 2016 को सूचना प्राप्त हुई कि गढ्ढा खोदते समय एक मजदूर गड्ढे में गिरकर मिट्टी में दबकर जीवन मृत्यु से संघर्ष कर रहा है. इस सूचना पर तत्काल आरक्षी राकेश कुमार मौके पर पहुंचकर अपनी जान की परवाह न करते हुए मजदूर को गड्ढे से बाहर निकाल कर जान बचाई.

जनपद खीरी में 21 सितम्बर 2016 को आवेदक सुन्दरलाल निवासी बक्खारी थाना गोला की पुत्री पूनम प्राईवेट नर्सिंग होम में भर्ती होने एवं तीन यूनिट खून चढ़ाए जाने के बाद भी जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रही है. सूचना प्राप्त होने पर योगेश शंखधर थानाध्यक्ष फरधान द्वारा स्वयं रक्तदान द्वारा उक्त महिला की जान बचायी गयी.

जनपद खीरी में 18 /19 सितम्बर 2016 की रात्रि थाना खीरी क्षेत्रान्तर्गत एक अज्ञात युवती शारदा नहर अमृतागंज के पास बहती दिखायी दिये जाने की सूचना पर गश्त कर रहे आरक्षी रामवृक्ष और रघुवीर प्रसाद ने टार्च की रोशनी में देखा तो वह बचाओ-बचाओ की आवाज देने लगी. इस पर पुलिस कर्मियों द्वारा सूझबूझ का परिचय देते हुए उस युवती को रस्सा डालकर किसी तरह नहर से 26 नम्बर पुल के पास जीवित निकाला गया.

जनपद सोनभद्र में 4 जुलाई 2016 को थाना कोन क्षेत्र के पाण्डे नदी घघिया घाट के पास बाढ़ की तेज रफ्तार में एक लड़का दिनेश कुमार पुत्र राजाराम भारती निवासी कोन थाना कोन के बहने की सूचना प्राप्त होने पर आरक्षी प्रदीप कुमार वर्मा के द्वारा बहादुरी के साथ बहते तेज धारा में रस्सा लेकर तैरते हुए उस लड़के के पास पहुंचकर तेज पानी की बहाव से बाहर लाया गया, जिससे उसका जीवन बचाया जा सका.

जनपद झांसी 28 नवम्बर 2016 को नोट बन्दी के दौरान एक वृद्ध महिला जो आंखों की बीमारी से ग्रसित थी, बैंक में नोट बदलने की काफी भीड़ होने के कारण लाईन में खडे़ होने पर बी.एल. यादव द्वारा उक्त वृद्ध गरीब महिला से पूछने पर बताया कि उसकी आंखों का आपरेशन हुआ है, भीड़ से आंखों की रोशनी जा सकती है, इस पर निरीक्षक बी.एल. यादव द्वारा स्वयं उक्त गरीब महिला को आवश्यकतानुसार दस हजार रूपया देकर आर्थिक मदद/सहायता की गई.

जनपद पीलीभीत में 22 नवम्बर 2016 को एसएस अस्पताल पीलीभीत में डिलीवरी हेतु दाखिल एक अनजान महिला अफसाना पत्नी मो. शेख निवासी केसरपुर के पास दवा एवं ईलाज के पैसे न होने पर इस आरक्षी विजय कुमार शर्मा के द्वारा उसे न जानते हुए भी 3100 रूपये नकद देकर सहायता की गई. जिससे उसका दवा, ईलाज संभव हुआ.

परिक्षेत्र कार्यालय इलाहाबाद में आरक्षी आशीष कुमार मिश्रा ने अपना एक ग्रुप बनाया जिससे 35 लोग जुड़ गये हैं. इस ग्रुप के द्वारा गरीब एवं जरूरत मन्द लोगों को ब्लड डोनेट किये जाने का काम किया जाता है. इसी प्ररिप्रेक्ष्य में एक स्तुति नामक महिला जो कि केंसर से पीड़ित थी, को ब्लड की आवश्यकता होने पर इस आरक्षी के द्वारा तत्काल ब्लड दिया गया. इस समय वह पीड़िता स्वस्थ है।.

परिक्षेत्र कार्यालय झांसी के आरक्षी जितेन्द्र यादव के द्वारा अपने कार्य सरकार के अतिरिक्त समय निकालकर प्रतिदिन झोपड़ पट्टी एवं गरीब बच्चों को निःशुल्क पढ़ाया जाता है.

लखनऊ में 10 सितम्बर 2016 को मुख्यालय के ट्विटर एकाउन्ट पर दीप कुमार बाजपेयी, उपनिरीक्षक द्वारा अपने ससुर से पीड़ित/तंग आकर आत्महत्या कर लेने को कहा गया. इस सूचना पर तत्काल अंकित वर्मा, सोशल मीडिया सेल डीजीपी मुख्यालय के द्वारा उक्त समस्या से सम्बन्धित 1090 में नियुक्त अधिकारियों को जरिये दूरभाष अवगत कराया गया एवं पीड़ित से वार्ता कर उन्हें आत्महत्या जैसे कृत्य करने से रोका गया.

जनपद सुलतानपुर में 14अप्रैल 2016 को जनपद-सोनभद्र के रहने वाले उपेन्द्र कुमार दूबे जो सिंगापुर में शिप मैनेजमेंट कंपनी में डायरेक्टर है, के द्वारा मुख्यालय के ट्विटर हैण्डिल पर ट्वीट के माध्यम से अवगत कराया गया कि उनके पिता को कुछ गांव के गुण्डों द्वारा परेशान किया जा रहा है एवं वह पिता की सुरक्षा को लेकर चिन्तित हैं. इस सूचना पर आरक्षी सुधीर कुमार गौतम, सोशल मीडिया सेल डीजीपी मुख्यालय के द्वारा तत्काल जनपद सोनभद्र के सोशल मीडिया सेल से वार्ता की गई. और मात्र 3 मिनट में ही शिकायतकर्ता को जवाब दिया गया कि उनके प्रकरण का समाधान किये जाने हेतु स्थानीय पुलिस को बताया जा चुका है. उपेन्द्र को बताया गया कि पुलिस उनके घर पहुंच चुकी है और बताया गया कि बदमाश को पकड़ लिया गया है एवं सम्पूर्ण कार्यवाही मात्र 20 मिनट में की गयी है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top