UP के डिप्टी सीएम बने दिनेश शर्मा, जानिए उनसे कुछ जुडी ख़ास बातें

 2017-03-19 09:05:10.0

UP के डिप्टी सीएम बने दिनेश शर्मा, जानिए उनसे कुछ जुडी ख़ास बातें

तहलका न्यूज़ ब्यूरो.
लखनऊ:
विधानसभा चुनाव में बीजेपी की भव्य जीत के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर योगी आदित्यनाथ के नाम के साथ उप मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा के नामों की घोषणा भी हुई. दूसरे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मेयर हैं. सवर्णों की सबसे बड़ी आबादी ब्राह्मण जाति से आते हैं. वह भाजपा के गुजरात मामलों के प्रभारी और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी हैं. लखनऊ विश्वविद्यालय के वाणिज्य विभाग में प्रोफेसर 53 वर्षीय शर्मा लंबे समय से भाजपा के सदस्य हैं, लेकिन लोकसभा चुनाव में भाजपा की जबर्दस्त विजय के बाद अगस्त 2014 में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त होने के बाद वह देश भर में सुखिर्यों में आये थे.


दिनेश शर्मा और शाह की नजदीकियों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पार्टी की सदस्यता बढ़ाने के महाअभियान की कमान उन्हें सौंपी गई थी. शर्मा अपनी इस जिम्मेदारी पर खरे भी उतरे. उनकी अगुवाई में बीजेपी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन गई.


केंद्र में सरकार बनने के तुरंत बाद पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की कुर्सी मिली और उन्हें अमित शाह ने अध्यक्ष बनते ही गुजरात का प्रभारी बना दिया. साफ़-सुथरी छवि भी उनकी दावेदारी को प्रभावी बनाती है.शर्मा यूपी की राजनीति में खास पैठ रखने वासे कल्याण सिंह और कलराज मिश्र के भी करीबी माने जाते है. शर्मा को लेकर कहा जाता है कि वे उन गिने चुने नेताओं में से हैं, जिन्हें पार्टी के अच्छे दिनों में सबसे ज्यादा ईनाम मिला है.



साल 2014 में केंद्र में एनडीए की सरकार बनने के बाद पार्टी ने उन्हें न सिर्फ़ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया बल्कि गुजरात का प्रभार भी सौंपा. कहा जाता है कि दिनेश शर्मा उन कुछ लोगों में शामिल हैं, जिन्हें पार्टी के 'अच्छे दिनों' में सबसे ज़्यादा पुरस्कार मिला. नवंबर 2014 में उन्हें पार्टी की राष्ट्रीय सदस्यता प्रभारी बनाया गया. उस समय बीजेपी के सदस्यों की एक करोड़ हुआ करती थी, अब यह संख्या 11 करोड़ पार कर गई है.



Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top