अब नहीं बांटे जायंगे अखिलेश यादव की तस्वीर वाले राशनकार्ड

 2017-03-16 09:48:55.0

अब नहीं बांटे जायंगे अखिलेश यादव की तस्वीर वाले राशनकार्ड

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावो में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलने के बाद सूबे में नए सीएम की चर्चाये तेज हो गयी हैं. इस बीच अधिकारीयों ने सपा सरकार द्वारा चलाई जा रही तमाम सरकारी योजनाये में से अखिलेश यादव का नाम हटवाना शुरू कर दिया है. विधानसभा चुनाव में आचार संहिता लागू होने से पहले जल्दी में छपवाए गए अखिलेश यादव की फोटो वाले राशन कार्ड अब बक्सों में बंद कर दिया गया हैं. दरअसल उन्हें आचार संहिता खत्म होने के बाद कार्ड बटाना था. लेकिन अब अधिकारी पुराने सीएम की फोटो वाले राशन कार्ड बांटने में हिचक रहे हैं.


सूत्रों के मुताबिक़ अब यह कार्ड नहीं बंटेंगे, अब भाजपा सरकार में नए हाईटेक कार्ड छपवाए जाएंगे. हालांकि यह राशन कार्ड आचार संहिता के दौरान भी सहज कामकाज के तौर पर बंट सकते थे. लेकिन, राशन कार्डो पर छपी अखिलेश यादव की फोटो, उनके संदेश और समाजवादी पार्टी की पहचान बन चुकीं लाल-हरी पट्टियों को देख चुनाव आयोग ने इसे प्रचार की श्रेणी में माना और वितरण पर रोक लगा दी.


अब सपा की सरकार जाने के बाद अखिलेश की फोटो वाले इन राशन कार्डो को निकालने की हिम्मत अधिकारी नहीं कर पा रहे हैं.आपूर्ति विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अब शायद फिर से ऐसे राशन कार्ड छपवाए जाएंगे, जिनसे सपा के निशान गायब होंगे और जिन पर नई सरकार की पहचान होगी. फिलहाल अघोषित तौर पर अखिलेश के फोटो वाले राशन कार्डो को बांटने पर रोक लगा दी गई है. केंद्र सरकार ने तो सितंबर 2013 में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) को जमीन पर उतार दिया था लेकिन, दिल्ली से चली योजना को बगल के उत्तर प्रदेश तक पहुंचने में ढाई साल लग गए। 2016 में जनवरी और मार्च से दो चरणों में योजना प्रदेश में लागू भी हुई तो लोगों के पास इसके लिए राशन कार्ड नहीं थे.



Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top