गदर्भ मेला: चुनाव के बाद चर्चा में हैं गधे, गंगा नहाने के बाद सवा लाख में बिका गधा

 2017-03-22 04:44:16.0

गदर्भ मेला: चुनाव के बाद चर्चा में हैं गधे, गंगा नहाने के बाद सवा लाख में बिका गधा

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
कौशांबी. यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान गधे जमकर छाए रहे। चुनाव खत्म हुआ नहीं कि लोगों ने गधों को दरकिनार कर दिया गया। वहीं, इस बात को कम लोग ही जानते हैं कि यूपी के कौशांबी जिले के कड़ा में हर साल दो दिवसीय 'गदर्भ मेला' लगता है। इस साल भी गदर्भ मेले का आयोजन किया गया है।



इस बार कौशांबी के कड़ा शीतलाधाम में लगने वाले वार्षिक 'गदर्भ मेले' में पंजाब, उत्तराखण्ड, बिहार, मध्य प्रदेश व जम्मू कश्मीर सहित प्रदेश के कोने-कोने से कारोबारियों के गधों ने हिस्सा लिया है। मेले में तमाम गधे, खच्चर व घोड़ा आदि की जमकर बिक्री हुई। बता दें कि इस मेले में एक गधा तो सवा लाख तक में बिका है, जो कि लोगों के चर्चा का विषय बना रहा।

कड़ा स्थित मां शीतला धाम में दशकों से दो दिवसीय गधा मेला आयोजित किया जाता है। बता दें कि, गधा को मां शीतला की सवारी भी माना जाता है। 'गदर्भ मेले' में पंजाब, उत्तराखण्ड सहित प्रदेश के कोने-कोने से आए कारोबारियों ने गधों को खरीदा। मेले में 5 हजार से लेकर करीब सवा लाख रूपए तक के गधे, खच्चर व घोड़े की बिक्री हुई। इस मेले में गधों, खच्चर व घोड़ों को सजाने व सवारने के लिए सामानों से लेकर खान-पान तक के सामान भी मिलते हैं।

मेले में गधे करते हैं गंगा स्नान
'गदर्भ मेले' से पहले गधों, खच्चरों व घोड़ों के मालिक उन्हें गंगा में स्नान करवाते हैं। उसके बाद उन्हें सजाया संवारा जाता है। एक ही जैसे दिखने वाले गधे मेले में कहीं खो न जाए इसके लिए उनके शरीर पर अलग-अलग रंगों से तरह-तरह के निशान लगाये जाते हैं। जो आपको तस्वीरों में भी नजर आ रहे होंगे।

Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top