Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी की सरकारी बसों से अब नहीं हो पायेगी डीज़ल चोरी

 Sabahat Vijeta |  2016-07-26 17:10:56.0

UPRoadways
लखनऊ| उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) ने पहली बार कैसर बाग डिपो पर स्वचालित ईंधन प्रबंधन प्रणाली (ऑटोमेटेड फ्यूल मैनेजमेंट सिस्टम) शुरू किया है। यह प्रणाली पूरे प्रदेश में सबसे पहले राजधानी के कैसरबाग कार्यशाला डिपो में प्रयोग के तौर पर शुरू की गई है। स्वचालित ईंधन प्रबंधन प्रणाली के बारे में पूछने पर यूपीएसआरटीसी के अधिकारी जयदीप वर्मा ने बताया कि यह प्रबंधन प्रणाली इंडियन ऑयल के सहयोग से लगाई गई है। ईंधन पंप पर इस स्वचालित प्रणाली के लग जाने से परिवहन विभाग को करीब दो प्रतिशत के फायदे की उम्मीद है।


वर्मा ने बताया कि इस प्रणाली में ड्राइवर का कोड, गाड़ी नंबर, क्षेत्र कोड आदि चीजें फीड की गई है। जैसे ही बस पंप पर ईंधन लेने के लिए आएगी और पंप का नोजिल बस की ईंधन टंकी में लगी रिंग के संपर्क में आएगा।


यह प्रणाली स्वयं कार्य करने लगेगी और टंकी के फुल होने पर अपने आप ही बंद हो जाएगी। साथ ही यह भी पता चल जाएगा कि टंकी में कितने लीटर डीजल डाला गया है। इससे घटतौली और ईंधन चोरी पूरी तरह से बंद हो जाएगी।


एक सवाल के जवाब में वर्मा ने बताया कि पूरे प्रदेश में ईंधन भरने वाले करीब 120 डिपें हैं। फिलहाल अभी लखनऊ के कैसर बाग कार्यशाला और उपनगरीय डिपों में इस प्रणाली को लगाया गया है।


उन्होंने कहा कि सफल होने पर इसे राज्य के 73 डिपों में इस प्रणाली को लगाया जाएगा। इसके बाद सभी ईंधन डिपों में भी इसे लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रणाली से बसों में ईंधन खपत का औसत भी निकल आएगा, जिससे परिवहन विभाग के पास हर बस के ईंधन खपत के बारे में विशेष डाटा उपलब्ध रहेगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top