अखिलेश यादव ने 3 अफसरों को किया सस्पेंड

 2016-03-31 13:21:05.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
बुंदेलखंड, 31 मार्च. बुंदेलखण्ड दौरे पर निकले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव महोबा से चित्रकूट पहुंचे तो उनके तेवर तल्ख हो गए। भूख-प्यास से मर रहे जानवरों के भूसे (चारा) में घपले की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने तुरंत मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को सस्पेंड करने का आदेश दिया। ट्रांसफर-पोस्टिंग में पैसा लेने की शिकायत पर सीएम ने बीएसए को भी सस्पेंड करने का आदेश मुख्य सचिव को दिया। इसके साथ ही सीएम ने एआरटीओ को भी सस्पेंड करने का निर्देश दे दिया। सीएम के अचानक हनुमान मंदिर, राजघाट और कालिंजर पहुंचने से अफसर पीछे भागते रहे।


महोबा से मुख्यमंत्री सीधे चित्रकूट पुलिस लाइन कार्यक्रम स्थल पहुंचे। यहां उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पूरा बुंदेलखण्ड आपदा झेल रहा है, उनकी सेवा का मौका है, जो अधिकारी ईमानदारी से काम करेगा बहुत पुण्य मिलेगा। उन्होंने यहां 52 करोड़ की 16 परियोजनाओं का लोकार्पण किया और विभिन्न योजनाओं के 1426 लाभार्थियों को राहत पैकेट बांटे।

अचानक पहुंचे हनुमान मंदिर और राजघाट
कार्यक्रम के बाद सीएम करवी के डाक बंगला पहुंचे, यहां कुछ देर रुकने के बाद अचानक बाहर निकले और कार में बैठ गए। उन्होंने अधिकारियों को बुलाया और बरहा हनुमान मंदिर चलने को कहा। काफिला मंदिर पहुंचा तो वहां परिक्रमा सथल पर पत्थर लगाने का काम चल रहा था। सीएम नीचे उतरे ध्यान से पत्थर देखा और कहा वहां चिकने पत्थर की जगह दूसरा पत्थर लगाया जाए, इसके बात पत्थर लगाने का काम तुरंत रोक दिया गया।

राजघाट में 24 घंटे बिजली
हनुमान मंदिर से सीएम राजघाट पहुंचे, यहां कार से बाहर आकर कई दुकानदारों से मिले और उनके हालचाल पूछे। खुद ही सीएम ने उनसे कहा आप लोग सूखे से त्रस्त होंगे, कोई बात नहीं सरकार पूरी मदद करेगी। सीएम ने राजघाट में 24 घंटे बिजली देने के साथ सोलर लाइट लगाने का आदेश दिया।

नाम तो सीएम का खराब होगा
काफिले से टकरा कर बाइक सवार गिरा तो सीएम ने काफिला रुकवाया और खुद कार से उतर कर उसको उठाया। उन्होंने एसपी को बुलाया और कहा गाड़ियां इतनी तेज बी न भगाओ की किसी की जान चली जाए। सीएम ने कहा तुम्हारा कुछ नहीं होगा नाम तो सीएम का खराब होगा। उन्होंने बाइक सवार को काफिले की एम्बुलेंस से अस्पताल भिजवाया और अधिकारियों से ख्याल रखने को कहा।

चित्रकूट से उड़े तो कालिंजर पहुंच गए
मुख्यमंत्री चित्रकूट से उतरे तो जिले के अधिकारियों ने राहत की सांस ली लेकिन कुछ मिनटों बात ही पता चला कि उनका हेलीकाप्टर बांदा के कालिंजर में उतर गया है।मुख्यमंत्री ने ऐतिहासिक दुर्ग कालिंजर स्थित नील कंठेश्वर महाराज (शिव) के दर्शन किए। मान्यता है कि शिव जी ने विषपान करने के बाद इसी किले में शांति हासिल की थी।

Tags:    
loading...
loading...

  Similar Posts

Share it
Top