Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

केंद्र सरकार में यूपी के नौकरशाहों का दबदबा और बढ़ा

 Abhishek Tripathi |  2016-07-19 04:48:29.0

pmoअभिषेक त्रिपाठी
लखनऊ. केंद्र सरकार में देश की सर्वोच्च नौकरशाही में अब यूपी का रुतबा और बढ़ेगा। बहुत दिनों बाद ये मौका आया है कि केंद्र सरकार के तमाम अमह पदों पर यूपी संवर्ग के आईएएस अफसरों को तैनाती मिली है। देश में ब्यूरोक्रेसी के सर्वोच्च कैबिनेट सेक्रेटरी पद पर यूपी के 1977 बैच के आईएएस अधिकारी प्रदीप कुमार सिन्हा तैनात हैं। पीएम के प्रधान सचिव पद पर यूपी के नृपेंद्र मिश्रा काम कर रहे हैं। इसके अलावा एक दर्जन से ज्यादा विभागों के सचिव पद पर यूपी के आईएएस अधिकारी तैनात हैं। अब यूपी के तीन और आईएएस अफसरों को केंद्र सरकार ने सचिव पद पर इम्पैनल किया है। इसमें यूपी कॉडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजीव कपूर, प्रमुख सचिव वित्त राहुल भटनागर और प्रमुख सचिव नियोजन अरुण कुमार सिन्हा शामिल हैं।


राजीव कपूर और राहुल भटनागर को सचिव पद के लिए जबकि अरुण कुमार सिन्हा को सचिव के समकक्ष पद के लिए इम्पैनल किया गया है। राजीव उत्तराखंड में लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन मसूरी के निदेशक हैं। इस बार के इम्पैनलमेंट में एक खास बात ये भी है कि इससे पहले प्रशासनिक अधिकारियों का केंद्र में इम्पैनलमेंट एसीआर के आधार पर होता था, लेकिन इस बार मोदी सरकार ने अधिकारियों का केंद्र में इम्पैनल एसीआर के साथ '360 डिग्री रिव्यू' के साथ किया है। ये एक नई परंपरा है।


यूपी के 73 आईएएस अफसर केंद्र में
पीएम की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति संबंधी समिति के अधीन फिलहाल 450 अधिकारी केंद्र में हैं। इनमें सबसे ज्यादा 73 अधिकारी यूपी से हैं। इनमें सबसे ज्यादा सचिव पदों पर यूपी कॉडर के ही अधिकारी हैं। कई चेयरमैन और निदेशक पदों पर भी यूपी कॉडर के अफसर तैनात हैं। सचिव पदों पर देखें तो, रसायन मंत्रालय में विजय शंकर पांडेय, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय में शंकर अग्रवाल, इस्पात मंत्रालय में अनुज कुमार विश्नोई, कोयला मंत्रालय में अनिल स्वरूप, जहाजरानी मंत्रालय में राजीव कुमार प्रथम, खनन मंत्रालय में बलविंदर कुमार, प्रशासनिक सुधार मंत्रालय में देवेंद्र चौधरी, कौशल विकास मिशन मंत्रालय में रोहित नंदन, वित्त मंत्रालय में नीरज कुमार गुप्ता सचिव पद पर तैनात हैं। इसके अलावा 1980 बैच की आईएएस अधिकारी आराधना जौहरी नेशनल अथॉरिटी ऑफ केमिकल वेपन की अध्यक्ष हैं।


राज्यसभा के महासचिव तक बनें
यूपी कॉडर का इतिहास गौरवशाली रहा है। यूपी कॉडर से निकले पूर्व मुख्य सचिव अनूप कुमार मिश्रा राज्यसभा में महासचिव के पद तक गए। इससे पहले पूर्व मुख्य सचिव योगेंद्र नारायण भी राज्यसभा में महासचिव रह चुके हैं।


यूपी कॉडर के हैं पीएमओ के प्रधान सचिव व सरकार के कैबिनेट सचिव
प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधानसचिव की जिम्मेदारी यूपी के 1967 बैच के रिटायर्ड आईएएस नृपेंद्र मिश्रा के पास है। पीएमओ में ही 2003 बैच के आईएएस अफसर मयूर माहेश्वरी तैनात हैं। वह पीएमओ में ज्वाइंट सेक्रेटरी हैं। यूपी कॉडर के ही टीएसआर सुब्रमण्यम, बीके चतुर्वेदी भी कैबिनेट सचिव पर रह चुके हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top