Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कैबिनेट ने दी वाराणसी मेट्रो के डीपीआर को मंजूरी, जल्द शुरू होगा काम

 Anurag Tiwari |  2016-05-31 15:19:16.0

Varanasi Metro, DPR, LMRC, Athens

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ। मंगलवार को लखनऊ में हुई यूपी के सीएम अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में वाराणसी मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) मंजूरी दे दी है। यह डीपीआर भारत सरकार की अनुभवी और स्पेशलाइज्ड आर्गेनाईजेशन राईट्स ने  तैयार की है।

सीएम को दिए गए बदलाव के अधिकार

डीपीआर में गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया की सलाह और अन्य कारणों से भविष्य में किए जाने वाले बदलाव के लिए और प्रपोज्ड कॉरिडोर के कंस्ट्रक्शन में आने वाली मुश्किलों को दूर करने के सीएम को अधिकार दिया गया है। वाराणसी, कानपुर, आगरा और मेरठ में बनने वाले मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन को को-आर्डिनेटर आर्गेनाईजेशन अप्वाइंट किया गया है।


कानपुर, आगरा और मेरठ में भी चलेगी मेट्रो

बता दें कि  यूपी सरकार ने कानपुर, वाराणसी, आगरा और मेरठ में मेट्रो प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है। इन शहरों में बढ़ रहे व्हीकल्स और ट्रैफिक लगतार बढ़ रहा है। इसी के मद्दे-नजर और पहले से बनी हुई सड़कों की चौड़ाई बढ़ाये जाने की संभावना न के बराबर है को देखते हुए सरकार ने इन शहरों में मेट्रो रेल चलाने के लिए चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में स्पेशल पर्पज व्हीकल बनाए जाने का निर्णय लिया था।

कुल 26 स्टेशन, 20 अंडरग्राउंड  

राइट्स द्वारा बनाए गए डीपीआर में 29.23 किलोमीटर लम्बाई के दो कॉरिडोर प्रपोज्ड हैं। इनमे से एक भेल से बीएचयू कॉरिडोर 19.350 किलोमीटर का है और दूसरा बेनियाबाग से सारनाथ 9.885 किलोमीटर का रूट प्रपोज्ड है। भेल से बीएचयू के बीच में 17 और बेनियाबाग से सारनाथ के बीच नौ स्टेशन प्रपोज्ड हैं। इनमें छह एलिवेटेड और 20 अंडरग्राउंड स्टेशन होंगे। इस प्रोजेक्ट पर, कुल 13 हजार 133 करोड़ रुपए की लागत आने की सम्भावना है।

Varanasi MRTS Corridors

हिस्टोरिकल शहर  होने के चलते चुनौतियां

इससे पहले मेट्रोमैन श्रीधरन ने वाराणसी मेट्रो के बारे में बात करते  हुए बताया था कि प्राचीन शहर होने के कारण यहां कई धार्मिक स्थल हैं, जिनके चलते वहां ज्यादातर हिस्सों में मेट्रो का एलीवेटेड हिस्सा नहीं बन सकता। इसका एक ही उपाय है कि वहां ज्यादातर मेट्रो रूट को जमीन के नीचे बनाया जाए।

सीवर लाइन से काफी नीचे बनेगा मेट्रो रूट

श्रीधरन के मुताबिक़ बनारस में अंडरग्राउंड सीवर सिस्टम को कोई नुकसान नहीं पहुंचगा क्योंकि मेट्रो का रूट काफी नीचे होगा। बनारस में सीवर लाइन 5-6 मीटर नीचे है, जबकि मेट्रो का रूट सतह से 15 मीटर नीचे होगा। उन्होंने कहा कि बनारस के लोगों को मेट्रो के अंडरग्राउंड कंस्ट्रक्शन को लेकर किसी बात के चिंता नहीं करनी चाहिए।

ऐसे गुजरेगा पहला कॉरिडोर

- बीएचयू गेट के पास से ये कॉरिडोर अंडरग्राउंड होगा और पहला स्टेशन पं मदन मोहन मालवीय चौक पर बनेगा।

- दूसरा स्टेशन तुलसी मानस मंदिर के पास।

- इसके बाद रत्नाकर पार्क, दुर्गा मंदिर और गोदौलिया चौक पर अंडरग्राउंड स्टेशन

- इसके बाद बेनिया बाग़ में अंडरग्राउंड स्टेशन बनेगा।

- बेनिया बाग़ में दोनों कॉरिडोर का इंटरसेक्शन होगा।

- बेनिया के बाद मौलवी पार्क में अंडरग्राउंड स्टेशन।

- इसके बाद भारत माता मंदिर और कैण्ट स्टेशन पर अंडरग्राउंड स्टेशन।

- कैंट के बाद होटल ताज गेटवे, कलेक्ट्रेट और यूपी कॉलेज बस स्टैण्ड के पास अंडरग्राउंड स्टेशन बनाए जाने का प्रपोजल है।

- इस रूट पर राजराजेश्वरी नगर आखिरी अंडरग्राउंड स्टेशन होगा।

- इसके बाद रैंप के जरिए मेट्रो रूट एलिवेटेड सेक्शन का हो जाएगा।

- इसके बाद श्री संकटहरण हनुमान मंदिर, शिवपुर बाईपास रोड और नवलपुर रोड के चौराहे और तरना बस अड्डे पर एलीवेटेड स्टेशन बनाए जाने का प्रपोजल है।

दूसरे कॉरिडोर का रूट

- दूसरा कॉरिडोर बेनिया बाग से मैदागिन की ओर बढ़कर सारनाथ तक बनेगा

- इस कॉरिडोर की लम्बाई लगभग 10 किलोमीटर होगी।

- मैदागिन की तरफ बढ़ने पर गांधी मैदान, मछोदरी पार्क और काशी बस अड्डे पर अंडरग्राउंड स्टेशन बनाए जाने का प्रपोजल है।

- जलालीपुर स्टेशन पर अंडरग्राउंड स्टेशन के बाद यह कॉरिडोर रैम्प के जरिए एलीवेटेड हो जाएगा।

-सारनाथ स्टेशन तक पहुँचने में पंचकोशी मार्ग और एनएच-29 आशापुर, रिशपट्टन मार्ग और मवइया स्टेशन एलीवेटेड बनाए जाने का प्रपोजल है।

यह भी पढ़ें :

वाराणसी-लखनऊ के मेट्रो स्टेशन देंगे इतिहास की झलक, एथेंस की तर्ज पर बनेगा म्यूजियम

कानपुर में भी दौड़ेगी अब मेट्रो

लखनऊ मेट्रो की ड्राईविंग सीट पर होंगी महिलाएं

लखनऊ में बनेंगे 3 बड़े अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन, टनल बोरिंग मशीन से होगी ट्रैक की खुदाई

GOOD NEWS: अक्टूबर से दौड़ेगी लखनऊ मेट्रो

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top