Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

खुशखबरी: ITI प्रमाणपत्र धारकों को 10वीं-12वीं का दर्जा देगा यूपी बोर्ड

 Tahlka News |  2016-04-06 11:47:08.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 6 अप्रैल. आठवीं और दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद किसी मान्यताप्राप्त औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) से दो वर्ष या अधिक अवधि का औद्योगिक प्रशिक्षण पूरा करने वाले छात्रों को यूपी बोर्ड क्रमश: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट पास होने का सर्टिफिकेट देगा। शर्त यह होगी कि ऐसे छात्रों को यूपी बोर्ड की हाईस्कूल/ इंटरमीडिएट परीक्षा के हिंदी विषय की परीक्षा व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में उत्तीर्ण करना होगा। इसके लिए इंटरमीडिएट शिक्षा अधिनियम, 1921 के तहत विनियमों में संशोधन करते हुए सरकारी गजट प्रकाशित कर दिया गया है।


मुख्य सचिव आलोक रंजन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कक्षा आठवीं और दसवीं पास कर हर साल प्रदेश के मान्यताप्राप्त आइटीआइ से दो वर्षीय ट्रेनिंग पूरी करने वाले तकरीबन ढाई लाख छात्रों को इसका फायदा मिलेगा। अभी तक ऐसी कोई व्यवस्था न होने से हाईस्कूल के बाद आइटीआइ से दो वर्षीय ट्रेनिंग पूरी करने वाले छात्र उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश से वंचित रह जाते थे। नयी व्यवस्था के लागू होने पर ऐसे छात्रों को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट पास का दर्जा मिलने से उनके लिए उच्च शिक्षा हासिल करने की राह खुल जाएगी। इसी वजह से सरकार ने छात्रहित में यह फैसला किया है।


सचिव व्यावसायिक शिक्षा भुवनेश कुमार ने बताया कि आइटीआइ से दो वर्ष या अधिक अवधि का प्रशिक्षण पूरा करने वाले छात्रों को राष्ट्रीय व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद (एनसीवीटी) द्वारा जारी राष्ट्रीय व्यवसाय प्रमाणपत्र या राज्य व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद (एससीवीटी) की ओर से जारी राज्य स्तरीय प्रमाणपत्र दिया जाता है। इन प्रमाणपत्रों को हासिल करने वाले छात्रों को हाईस्कूल या इंटरमीडिएट का सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए फिर से नौवीं और ग्यारहवीं कक्षाओं में दाखिला लेने की जरूरत नहीं होगी। ऐसे छात्रों को सिर्फ ङ्क्षहदी भाषा की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद दसवीं और बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण छात्रों के समकक्ष माना जाएगा। बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण छात्रों के समकक्ष माने जाने की वजह से वे स्नातक में प्रवेश के योग्य होंगे। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि व्यावसायिक वर्ग से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को आइटीआइ उत्तीर्ण के समकक्ष नहीं माना जाएगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top