Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सुपर कंप्यूटर दिमाग वाली अनन्या को यूपी बोर्ड ने किया रिजेक्ट

 Abhishek Tripathi |  2016-08-25 04:25:59.0

Ananya_vermaतहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ. लखनऊ के एक स्कूल में पांच साल की बच्ची अनन्या वर्मा को कक्षा 9 में एडमिशन देने के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। यूपी बोर्ड ने अनन्या का दाखिला रिजेक्ट कर दिया है। इस वजह से लखनऊ के विवादित डीआईओएस उमेश त्रिपाठी सवालों के घेरे में आ गए हैं। बता दें कि ऑनलाइन सॉफ्टवेयर में कम उम्र होने की वजह से अनन्या को एडमिशन नहीं मिल पाया है। वहीं, उमेश त्रिपाठी का कहना है कि अभूतपूर्व कौशल बताते हुए अनन्या को एडमिशन के लिए विशेष अनुमति दी गई थी, लेकिन स्कूल मैनेजमेंट का कहना है कि अनन्या का टेस्ट लिया गया था।


बताते चलें कि, 1 दिसंबर 2011 को जन्मी अनन्या तेज बहादुर सिंह की बेटी है। जो बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय (BBAU) में असिस्टेंट सुपरवाइजर हैं। अनन्या की मां को लिखना और पढ़ना भी नहीं आता है। उसका एक भाई और बहन दोनों विलक्षण प्रतिभावान हैं। अनन्या का बड़ा भाई शैलेंद्र 14 साल की उम्र में ही BCA कर चुका था। सुषमा को BBAU में PhD में तभी ऐडमिशन मिल गया, जब वह केवल 15 साल की थी। साल 2007 में उसका नाम लिम्का बुक ऑफ रेकॉर्ड्स में सबसे कम उम्र में बोर्ड की परीक्षा पास करने के लिए दर्ज हुआ था। सुषमा ने 13 साल की उम्र में ही B.Sc. कर लिया था।


उनके पिता तेज बहादुर ने बताया, 'अनन्या जब एक साल की थी तो वह रामायण और सुंदरकांड पढ़ लेती थी। मैं उस पर कभी पढ़ने के लिए जोर नहीं डालता था। हमारे परिवार पर भगवान की कृपा है, जहां ऐसे प्रतिभावान बच्चे हैं।' अनन्या की प्रिंसिपल अनीता रात्रा भी उनकी इस विलक्षण प्रतिभा से आश्चर्य में हैं। उन्होंने बताया, 'वह हमारे पास जून में ऐडमिशन के लिए आई थी। उसने कहा कि सुषमा दीदी को कक्षा नौ में ऐडमिशन मिला था, लेकिन उसे 10 में चाहिए। मैंने उससे अखबार पढ़ने के लिए कहा तो वह बिल्कुल अच्छी तरह पढ़ने लगी। उसके पास ग्रहण करने की अद्भुत क्षमता है। वह कुछ भी एक बार पढ़ के याद कर लेती है।'

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top