Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हैदराबाद विश्वविद्यालय में पुलिस ने प्रवेश रोका, स्थिति तनावपूर्ण

 Sabahat Vijeta |  2016-03-23 13:49:12.0

hydrabadहैदराबाद, 23 मार्च| हैदराबाद विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस ने बुधवार को प्रवेश रोक दिया। वहीं, छात्र समूहों ने भी 'राजनीतिक क्रूरता' के विरोध में चार दिनों तक कक्षा के बहिष्कार करने का आह्वान किया है। इन सबसे यहां स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। विभिन्न छात्र संगठनों को मिलाकर सामाजिक न्याय के लिए बनी संयुक्त कार्रवाई समिति (जेएसी) ने मंगलवार को कुछ छात्रों की गिरफ्तारी और उनपर लाठीचार्ज के विरोध में कक्षाओं के बहिष्कार का आह्वान किया है।


प्रदर्शनकारी छात्र विश्वविद्यालय के कुलपति पी. अप्पा राव 'वापस जाओ' के नारे लगा रहे थे। मंगलवार को हुए इस दौरान के दौरान करीब 25 छात्रों और दो फैकल्टी सदस्यों को गिरफ्तार किया गया।


अप्पा राव विश्वविद्यालय के दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के मामले में संलिप्तता के आरोप में प्राथमिकी में अपना नाम आने के बाद अवकाश पर चले गए थे। वह मंगलवार को विश्वविद्यालय परिसर लौटे और कुलपति के रूप में अपना कार्यभार संभाला।


jnusuराव की तुरंत गिरफ्तारी की मांग करते हुए कई छात्रों ने परिसर में स्थित उनके बंगले पर तोड़फोड़ भी की। उन्होंने परिसर में राव की वापसी को 'अस्वीकार्य' बताया। आगे किसी भी तरह की हिंसा को रोकने के लिए विश्वविद्यालय परिसर में त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) के जवानों की तैनाती की गई है।


विश्वविद्यालय प्रशासन ने पुलिस ने कहा है कि वह राजनीतिक पार्टियों के नेताओं तथा छात्र समूहों को परिसर में न आने दे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने भी शनिवार तक कक्षाएं स्थगित कर दी हैं और मेस बंद कर दिए हैं। छात्रों की शिकायत है कि छात्रावास के कमरों में बिजली की आपूर्ति और पीने का पानी भी रोक दिया गया है।


पुलिस ने राव की विश्वविद्यालय परिसर में वापसी के विरोध में यहां रोहित की मां के भूख हड़ताल पर बैठने की खबरों के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था और भी कड़ी कर दी है। वहीं, जेएसी के नेताओं ने कहा कि वे विश्वविद्यालय परिसर में बने स्माकर पर रोहित को श्रद्धांजलि देंगे और प्रदर्शनकारी छात्रों को संबोधित भी करेंगे।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top