Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यहां से शुरू हुई थी #UdtaPunjab के अनुराग कश्यप की जिंदगी

 Abhishek Tripathi |  2016-06-14 05:27:17.0

udta_punjabतहलका न्यूज ब्यूरो
गोरखपुर. विवादों को हमजोली मानने वाले पूर्वांचल की धरती के इस लाल ने आज तक जितनी भी फिल्म बनाई, एक चीज तो कामन रही कि हर फ़िल्म आलोचनाओं के दौर से गुजर कर ही कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ी। ऐसा नही है कि विवादों ने केवल उनकी फिल्मों को ही निशाना बनाया बल्कि निजी जिंदगी में विवादों ने हमेशा घिरी रही।


जी हां! हम बात कर रहे हैं इन दिनों विवादों में घिरी फ़िल्म उड़ता पंजाब के निर्माता अनुराग कश्यप की। गोरखपुर की माटी में 70 के दशक में जन्मे अनुराग कश्यप का बचपन यहीं की मिट्टी में बीता। राज्य बिजली बोर्ड के कर्मचारी पिता की नौकरी के दौरान हो रहे तबादलों की वजह से वाराणसी, सराहनपुर सहित प्रदेश के जिलो की आबोहवा भी उनको खूब भायी।


जहां शिक्षा दीक्षा पूरी कर वह मायापुरी की धरती पर धूम मचाने चले गए और अपनी फिल्मों की पटकथाओं को अलग नजरिये से बनाने वाले अनुराग कश्यप की 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट पर आधारित चर्चित फिल्म ब्लैक फ्राइडे खूब विवादों में रही। इसके बाद फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर भी गालियों और अश्लीलता के कारण चर्चाओं के घेरे में रही। इसके अलावा उनकी एक शार्ट फिल्म का विडियो जिसमें वालीवुड की एक्ट्रेस ने फ्रंटल नग्नता के सीन को लेकर हो हल्ला मचा था। इसी तरह फिल्म पांच और गुलाल को लेकर भी अनुराग कश्यप आलोचनाओं के दौर से दो चार हो चुके हैं।


हालांकि, इस बार उड़ता पंजाब में युवा पीढ़ी को नशे की जद में घिरा दिखाकर उन्होंने राजनितिक दलों को भी तीर छोड़ने का मौका दे दिया है। सेंसर बोर्ड राज्य विशेष के युवाओं द्वारा नशे की जद में आने पर बनी फिल्म उड़ता पंजाब से सेंसर बोर्ड ने कई दृश्य हटाने को कहा है। इस मूवी को सिल्वर स्क्रीन पर आने में अभी लगभग दो सप्ताह शेष है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top