Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ट्रांसजेडर भी समाज का अभिन्न अंग हैं

 Sabahat Vijeta |  2016-12-09 14:53:06.0

trans-jendar

वीएचएस दीवा के सहयोग से रिद्म फाउण्डेशन ने आयोजित की कार्यशाला

लखनऊ. ट्रांसजेडर और किन्नर समुदाय भी सभी इंसानों की तरह सामान्य व्यक्ति है और आम लोगों की तरह मेहनत, मजदूरी और सभी तरह के कार्य कर सकते हैं. यह बातें शुक्रवार को राजधानी के गोमतीनगर में ट्रांसजेडर और किन्नर समुदाय के एक सेंसटाइजेशन कार्यक्रम के आयोजन के अवसर पर समाजिक कार्यकर्ता अश्वनी कुमार रंजन ने कहीं.
वालेन्टरी हेल्थ सर्विसेज के दिवा प्रोजेक्ट के सहयोग से रिदम फाउण्डेशन द्वारा आयोजित इस आयोजन के शुभारम्भ अवसर पर एडवोकेट प्रवेन्द्र कुमार ने बताया कि आजकल जिस प्रकार लोकतंत्र का युग है उसी क्रम में सभी को समान्यता का अधिकार भी है इसके तहत सभी इंसानों को सामान्य अधिकार प्राप्त हैं. अब सुप्रीमकोर्ट ने भी इस समुदाय को तीसरे लिंग के रूप में मान्यता दे दी है. जिससे इस समुदाय को समाज को बराबरी का दर्जा दिलाने में काफी बल मिलेगा और हीनभावना का शिकार नहीं होगा. इस समुदाय के लोग भी अन्य आम इंसानों की तरह हैं न कि अलग और ट्रांसजेडर भी समाज का अभिन्न अंग हैं.

कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए एडवोकेट रतन सिंह ने उपस्थित जनों से आग्रह किया कि वे समाज में अपने आपको अलग न समझे वे भी समाज का ही एक हिस्सा हैं. वह समय दूर नहीं जब कि ट्रांसजेंडर किन्नर समुदाय भी समाज में बराबरी का हिस्सा दर्ज कराकर गर्व महसूस करेंगे. इस अवसर पर रिदम फाउण्डेशन के मैनेजर आशु श्रीवास्तव और सनी कश्यप आदि ने भरपूर सहयोग किया. कार्यक्रम के समापन के अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता अश्वनी कुमार रंजन ने सभी आगन्तुकों को धन्यवाद ज्ञापित किया. इस अवसर पर लगभग दो दर्जन समुदाय के सदस्य उपस्थित थे, जिनमें ट्रांसजेंडर समुदाय की सुमन, चांदनी, सवित्री, रवीना, संध्या, पूजा, रचना, रीना, मोहिनी, रानी, काजल, नाजिमी, सुन्दरी, ज्योती, नीलम, गीता, रिया, अंजली, आरती और सरोजनी आदि शामिल रहीं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top