Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नोटबंदी: नेपाल में पर्यटन बुरी तरह प्रभावित, सरकार ने RBI को लिखी चिट्ठी

  |  2016-11-22 08:46:47.0

notbandiसग़ीर ए खाकसार
सिद्धार्थनगर. भारत में नोटबंदी का प्रभाव पूरे विश्व में पड़ा है, लेकिन मित्र राष्ट्र नेपाल ज्यादा ही प्रभावित है। भारत में नोटबंदी के बाद नेपाल ने भी 500 और 1000 के नोटों को यहां बंद कर दिया है। ऐसा करने से नेपाल का पर्यटन और निर्यात दोनों बुरी तरह प्रभावित हुआ है। नेपाल राष्ट्र बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को पत्र लिख कर मैत्रीपूर्ण समाधान निकालने की भारत से मांग की है।


नेपाल बैंकिंग क्षेत्र के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो, नेपाल राष्ट्र बैंक में अच्छी खासी भारतीय मुद्रा नगदी के रूप में है। बताते चलें कि, नेपाल में नेपाली नागरिकों को 500 और 1000 रुपए के रूप में 25,000 रुपए तक रखने की छूट थी। इसके अलावा जो लोग भारत के सीमावर्ती इलाकों में रहते हैं वो भारी मात्रा में भारतीय मुद्रा से कारोबार करते हैं। यूं तो नेपाल में किसी एक व्यक्ति के पास भारी मात्रा में भारतीय मुद्रा रखने की खबर तो नहीं है, लेकिन अधिकांश लोग भारतीय मुद्रा अपने पास रखते हैं यह एक बड़ा सच है।


ताजा उत्पन्न हालात से निपटने के लिए नेपाल के वित्त मंत्रालय ने भारतीय वित्त मंत्रालय को पत्र लिख कर नेपाल में ही नेपाली नागरिकों के नोट को बदलने की मांग की है। क्योंकि अधिकांश नेपाली नागरिकों का भारत के बैंकों में खाता नहीं है। इस नोट बंदी का नेपाल के व्यापार, पर्यटन और निर्यात पर असर पड़ रहा है। नेपाल में पर्यटकों की संख्या में गिरावट आ रही है। जो पर्यटक पहले से मौजूद हैं, उन्हें भी मुसीबत उठानी पड़ रही है।


होटल व्यापारी कृष्ण भट्टराई कहते हैं कि पहले भारतीय मुद्रा से नेपाल में आसानी से खरीद फरोख्त हो जाती थी, लेकिन अब मनी एक्सचेंजरों पर पैसा नहीं है। यदि पैसा है भी तीन से साढ़े तीन फीसदी शुल्क लेकर मुद्रा परिवर्तन करने वाले एक्सचेंजर अब 15 फीसदी तक शुल्क वसूल रहे हैं। ऐसे में नेपाल के कैसिनों बंद पड़े हैं। बता दें कि, नेपाल के कैसिनों में नेपाली नागरिकों की आवाजाही पर रोक है। यह सिर्फ विदेशियों के लिए ही है।


नेपाली कैसिनो में एक अनुमान के मुताबिक 10 फीसदी भारतीय लोग जाते हैं और वहां भारतीय मुद्रा आधिकारिक रूप से चलता है। कैसिनों से जुड़े शिव राई कहते हैं कि कुछ कैसिनो तो बिलकुल बंद है जो खुलता भी उसमे कोई आता नहीं है। नेपाल का व्यापार भी नोट बंदी की मार झेल रहा है। सीमा से सटे व्यापारी बासुदेव कहते हैं कि भुगतान के लिए हमारे पास पैसे नहीं है। भारतीय व्यापारी भारत में अपने नोट को बदलने में लगे हैं। लगता है सामान्य हालात होने में अभी समय लगेगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top