Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

स्पोर्ट्स कालेज में साढ़े तीन सौ फर्जी एडमीशन !

 Sabahat Vijeta |  2016-08-31 14:58:11.0

bjplogo


लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी ने आज कहा कि स्पोटर्स कालेज में फर्जी एडमीशन घोटाला, प्रदेश की युवा खेल प्रतिभाओं के साथ धोखा है। प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि स्पोर्ट्स कालेज में साढ़़े तीन सौ फर्जी दाखिले एवं करोड़ो रूपये की अनियमितताएं और दोषी अधिकारियों के विरूढ जांच के बाद भी चार्टशीट दखिल न होना इस बात का प्रमाण है कि अखिलेश सरकार के संरक्षण में घोटालेबाज पल्लवित एवं पोषित हो रहे हैं।


उन्होंने कहा कि घपलेबाज, घोटालेबाज, सपा सरकार की सरपस्ती में निष्कटंक भ्रष्टाचार में लिप्त है, सरकार केवल पुरस्कार वितरण कर फोटो सेशन कराती है खेल प्रतिभाओं को निखारने में सरकार की कोई रूचि नहीं है।


प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि खेल विद्यालय और छात्रावास खेल प्रतिभाओं की नर्सरी होते है, यही से खिलाड़ी देश और प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने के लिए अग्रसर होते है। लेकिन इन कालेजों में ही भ्रष्टाचार की दीमक लग जाये तो खेल और खिलाड़ी दोनों का ही चौपट होना तय है। जिन बच्चों ने जिले एवं मण्डलों में ट्रायल तक नहीं दिया उनका भी दाखिला कर लिया गया। एक छात्र पर सरकार औसतन एक लाख रूपये प्रति वर्ष व्यय करती है। भर्ती घोटाला के कारण आपात्रों पर साढ़े तीन करोड़ प्रति वर्ष लुटाया गया और पात्र युवा खिलाड़ी अपने अधिकारों से वंचित रहे।


प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि अखिलेश सरकार ने भ्रष्टाचार का पारितोषिक देते हुए गुुरू गोविन्द सिंह स्पोर्टस कालेज के तत्कालीन प्राचार्य को उपनिदेशक खेल भी बना दिया। भारतीय जनता पार्टी खेल प्रतिभाओं से किये सपा सरकार के छलावे और स्पोर्ट्स कालेज में हुए भ्रष्टाचार के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की मांग करते हुए दोषी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के तत्काल बर्खास्तगी की मांग करती हैं तथा युवा खेल प्रतिभाओं की प्रतिमा को साहित करने की दिश में शीघ्र प्रभावी कदम उठाये जाने की मांग करती है।


भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने प्रदेश में दम तोड़ती स्वास्थ्य व्यवस्था पर कहा कि कानपुर में इलाज के अभाव में बाप के कंधे पर दम तोड़ता बेटा, लखनऊ में इलाज के तलाश में ट्रामा सेंटर से लोहिया की दौर में मौत के आगोश में गया व्यक्ति तथा जौनपुर में नसबंदी के लिए अस्पताल की टेबिल पर बेहोश पड़ी 30 महिलाएं प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर बदहाली, मनमानी, लापरवाही, उदासीनता एवं संवेदनशून्यता पर मुहर लगाती है। जो इस बात का प्रमाण है कि सरकार का इकबाल प्रदेश में समाप्त हो गया है।


प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि अखिलेश यादव सरकार में प्रदेश बदहाली को प्राप्त है। जो सरकार मरीज को उपचार तक मुहैया नहीं करा सकती उसे सत्ता में बने रहे का कोई अधिकार नहीं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top