Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मथुरा में जहरीली कुल्फी खाने से तीन दर्जन बच्चे बीमार

 Tahlka News |  2016-04-11 11:43:31.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
मथुरा, 11 अप्रैल. गांव में बनने वाली घटिया किस्म की कुल्फी खाने से मथुरा के एक गांव में तीन दर्जन बच्चे बीमार हो गये है। गांव में समुचित इलाज की व्यवस्था न होने पर बच्चों को कई डॉक्टरों के पास भर्ती कराया गया है।


मथुरा के छाता तहसील के शेरगढ़ में कल गांव में बनी कुल्फी खाने से तीन दर्जन बच्चे बीमार हो गए। इन्हें आनन-फानन अस्पतालों में भर्ती कराया गया। हादसा होते ही स्वास्थ्य विभाग सहित सरकारी तंत्र में खलबली मच गई। शेरगढ कस्बे के प्रजापति बस्ती, नगला सपेरा, गांव ओवा में बच्चों ने कुल्फी खाई थी। कुल्फी खाते ही बच्चों की हालत बिगडने लगी। इन बच्चों को उल्टी-दस्त होने लगे। इसके बाद परिवार के लोग इन्हें डाक्टरों के पास ले गये। हालत गंभीर देख इन्हें आसपास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया। पूरे क्षेत्र में खलबली मच गई। कुल्फी खाने से लता, सुनील, देव, धोनी, गौरव, मोहित, अमित, काजल, खुशी, नैना, मन्नू, सचिन, तुषार, नव्या, नीलम, देवेश, रोशनी, शिवानी , सुहाना, सौरभ, गौरी, तान्या, कबीर, रौनक, अनिकेत, सलीम, अरुण, नैना, शीतल, ब्रजेश, अनुराग, मंजीत, भावना, हिमांशु, रनवीर, सपना, रानी, सीमा, भीम, अंजलि, कुसुम आदि बच्चे बीमार हो गये हैं।


फूड प्वाइजिंग की सूचना पर सीएमओ डॉ. विवेक मिश्रा, एसडीएम रामअरज यादव भी क्षेत्र में पहुंच गए। बीमार बच्चों का हालचाल लिया। देर देर रात ज्यादातर बच्चों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया था जबकि आधा दर्जन बच्चों को मथुरा जिला अस्पताल और कोसी के अस्पतालों में रेफर कर दिया गया। यहां से भी कुछ बच्चे अपने घर जा चुके थे।


कुल्फी विक्रेता कस्बे का ही सुक्खे है। सुक्खे घर पर ही कुल्फी तैयार करता था। लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। खाद्य सुरक्षा टीम क्षेत्र में छापेमारी कर शीतलपेय और बर्फ आदि की चेकिंग कर रही है। माना जा रहा है कि कुल्फी में सेक्रीन अधिक डाली गई थी।इसकी सूचना देने के लिए छाता सामुदायिक केंद्र प्रभारी से संपर्क साधा तो उनका मोबाइल स्विच ऑफ बताता रहा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top