Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

महबूबा ने भी माना अलगाववादियों के बगैर समाधान संभव नही

 Vikas Tiwari |  2016-09-03 16:03:13.0

Mahbooba-Muftiश्रीनगर :  जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के जम्मू एवं कश्मीर दौरे से एक दिन पहले शनिवार को राज्य में शांति बहाली के लिए अलगाववादी नेताओं को बातचीत में शामिल करने का मुद्दा उठाया। महबूबा ने कहा, "देश के राजनीतिक नेतृत्व को जम्मू एवं कश्मीर में जारी अस्थिरता के समाधान और शांति बहाली के लिए बिना देरी किए हुर्रियत कान्फ्रेंस सहित समाज के सभी वर्गो के साथ उत्पादक वार्ता प्रक्रिया में शामिल होना चाहिए।"


महबूबा पिछले महीने गोलीबारी में मारे गए युवक माशूक अहमद शेख के परिवार वालों से शोक संवेदना व्यक्त करने दक्षिण कश्मीर पहुंची हुई थीं और इस दौरान उन्होंने वहां स्थानीय लोगों से बातचीत भी की।

महबूबा ने कहा कि यह शायद पहली बार हो रहा है कि पिछले दो माह के दौरान कश्मीर समस्या पर इतने सारे मंचों और संसद सहित इतने स्तरों पर चर्चा हो रही है।

उन्होंने कहा, "देश के भीतर इस मुद्दे पर वृहद राजनीतिक सहमति बनाए जाने और समस्या के समाधान के लिए वास्तविक उपाय अपनाया जाना मौजूदा समय की सबसे बड़ी जरूरत है।"

महबूबा ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, "कुंद, कुलगाम में गोलीबारी में मारे गए दिवंगत माशूक अहमद के परिवार से मुलाकात की और शोक संतप्त परिवार के प्रति दिल से संवेदना प्रकट की।"

दक्षिण कश्मीर में पिछले 57 दिनों से जारी तनाव और हिंसा के बीच यह पहला मौका है, जब मुख्यमंत्री ने घाटी में किसी पीड़ित के परिवार से मुलाकात की है।

उन्होंने इससे पहले 21 जुलाई को अनंतनाग जिले में गोलीबारी की घटनाओं के पीड़ितों के कुछ परिजनों से मुलाकात की थी, लेकिन उन्होंने वह मुलाकात सरकारी आवास में की थी।

घाटी में जारी हिंसा में अब तक 73 लोगों की जान जा चुकी है। इसके बारे में मुफ्ती ने कहा, "मानव जीवन की क्षति एक बड़ी त्रासदी है और सभी को जम्मू एवं कश्मीर में शांति के लिए प्रयास करना चाहिए।"

महबूबा ने कहा कि राज्य की जनता ने मौजूदा सरकार को राज्य की सत्ता सौंपी है, ताकि हम उनकी महत्वाकांक्षाओं को उठा सकें और समस्या का समाधान निकालें।

गौरतलब है कि रविवार को दिल्ली से एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल कश्मीर घाटी आ रहा है और उम्मीद की जा रही है कि यह प्रतिनिधिमंडल कश्मीर में समाज के सभी वर्गो से बातचीत करेगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top