Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बाढ़ में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी जेल भेजे जायेंगे

 Sabahat Vijeta |  2016-07-28 17:17:45.0

shivpal-air




  • शिवपाल सिंह यादव ने जनपद सिद्धार्थ नगर के बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का किया हवाई सर्वेक्षण

  • सभी अधिकारी दिन-रात बाढ़ प्रभावित गांवों में खाद्यान्न एवं आवश्यक सामाग्री वितरित करायें

  • बाढ़ बचाव में सहायता न करने पर अधिकारियों के विरूद्ध की जायेगी कड़ी कार्रवाई


लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री लोक निर्माण, सिंचाई, सहकारिता एवं बाढ़ नियत्रंण विभाग उ.प्र. शासन शिवपाल सिंह यादव तथा उनके साथ विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय एवं प्रमुख सचिव सिचाई सुरेश चन्द्रा आज जनपद सिद्धार्थ नगर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करते हुए पुलिस लाइन में हेलीपैड पर उतरे। यहाँ पर उन्होंने गार्ड आफ आनर की सलामी भी ली।


उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री लोक निर्माण, सिंचाई, सहकारिता एवं बाढ़ नियत्रंण विभाग उ.प्र. शासन शिवपाल सिंह यादव को पुलिस लाइन सभागार में जनपद में बाढ़ से सम्बन्धित तहसीलवार जानकारी मुख्य विकास अधिकारी अखिलेश तिवारी ने जिला प्रशासन द्वारा जनपद में बाढ़ नियंत्रण हेतु पूर्व में किये गये तैयारियों के सम्बन्ध में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गयी। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जनपद सिद्धार्थनगर नेपाल से सटा हुआ जनपद है। जनपद में सभी नदियाॅ नेपाल से होकर आयी है नेपाल द्वारा अचानक बाढ़ का पानी छोड़ देने के कारण बानगंगा बैराज में अचानक नदियों का जल स्तर बढ़ गया, जनपद स्तर पर ड्रेनेज खण्ड व सिंचाई निर्माण खण्ड द्वारा संवेदनशील स्थानों पर बन्धों के मरम्मत का कार्य कराया गया था। नदियों का जल स्तर वर्तमान में फिर बढ़ रहा है। शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र में मसिना और गोल्हौरा गाॅव में बाढ़ के पानी में फसे लोगों को गोरखपुर से एनडीआरएफ की टीम बुलाकर सभी व्यक्तियों कों सुरक्षित स्थानों पर पहुॅचा दिया गया है। कैबिनेट मन्त्री उ. प्र. शिवपाल सिंह यादव के आगमन के पूर्व जिलाधिकारी नरेन्द्र शंकर पाण्डेय व पुलिस अधीक्षक महेन्द्र यादव द्वारा बांसी नौगढ़ मार्ग के ककरही घाट के बगल में सूपाराजा में हो रहे बन्धें के कटान के निरीक्षण एवं आवश्यक प्रबन्ध हेतु गये थे।


बैठक में पूर्व विधायक विधान सभा क्षेत्र बांसी लालजी यादव, विधायक प्रतिनिधि शोहरतगढ़ उग्रसेन सिंह द्वारा बाढ़ बचाव से सम्बन्धित मन्त्री से खाद्यान्न सामग्री एवं बाढ़ प्रभावित जनमानस को जिला प्रशासन से सहायता राशि उपलब्ध कराये जाने हेतु अनुरोध किया गया। मन्त्री द्वारा जनपद के सभी जनप्रतिनिधियों व सभागार में उपस्थित उपजिलाधिकारी सदऱ से तहसील नौगढ़ के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों/नदियों के बारे में जानकारी ली। उपजिलाधिकारी ने बताया कि तहसील नौगढ़ में कूड़ा, घोघी नदी, जमुआर नाला आदि का जल स्तर सामान्य है। इस तहसील में कुल 25 गाॅव बाढ़ से प्रभावित है सभी बाढ़ चौकिया क्रियाशील है। राहत सामग्री तथा अन्य आवश्यक सामग्रियां युद्ध स्तर पर बाढ़ प्रभावित गांवों में वितरण कराया जा रहा है।


कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने बैठक में उपस्थित समस्त जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मेरे द्वारा जनपद के बाढ़ की स्थिति को हवाई सर्वेक्षण के द्वारा देखा गया है। अधिकारियों द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार नेपाल से अचानक अधिक पानी छोड़ देने के कारण जनपद में सभी नदियों का जल स्तर बढ़ गया और जनपद में भयावह बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी। उन्होने समस्त अधिकरियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति को असुरक्षा की भावना दिल में पैदा न होने पाये। इसके लिए सभी अधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए दिन-रात लगकर बाढ़ प्रभावित गांवों में खाद्यान्न सामग्री/अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराये। कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहने पायेगा इसके लिए आवश्यक निर्देश दिया गया है। बाढ़ से गिरे हुए मकानों, प्रभावित व्यक्तियों को राहत सामग्री तत्काल उपलब्ध कराये जाने हेतु जिलाधिकारी को निर्देश दिया गया।


कैबिनेट मंत्री लोक निर्माण, सिंचाई, सहकारिता एवं बाढ़ नियत्रंण विभाग उ.प्र. शिवपाल सिंह यादव ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि ड्रेनेज खण्ड, सिंचाई निर्माण खण्ड, पीडब्ल्यूडी एवं अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी जिनकी ड्यूटी बाढ़ बचाव हेतु लगायी गयी है सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा सही ढंग से कार्यो में सहयोग न देने पर उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर जेल भेजने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। इसके अलावा मुख्य विकित्सा अधिकारी डा. राजेन्द्र कपूर को निर्देश दिया गया कि समस्त पीएचसी/सीएचसी पर बाढ़ आने के बाद होने वाली बीमारियों से निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में आवश्यक दवायें बाढ़ शिविरों पर वितरण हेतु उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया तथा साथ ही साथ साॅप एवं एवं बिच्छू काटने की दवा भी सीएचसी/पीएचसी पर उपलब्ध रहे।


कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने निर्देश दिया कि सिंचाई निर्माण खण्ड/ड्रेनेज खण्ड के अधिशासी अभियन्ता,  सहायक अभियन्ता, जेई व अन्य कर्मचारी बाढ़ क्षेत्रों का दौरा करे और बाढ़ चौकियों पर कैम्प लगाकर संवेदनशील स्थानों पर उपस्थित रहे। जिससे बाढ़ की भयावह स्थिति से निपटा जा सके। मन्त्री ने बैठक में सबसे महत्वपूर्ण बात यह कही कि जनपद को बाढ़ से मुक्ति दिलाने के लिए नदियों को गहरा करना आवश्यक है। जब नदियां गहरी हो जायेंगी तो बाढ़ का खतरा सामान्य रूप से कम हो जायेगा। मेरे द्वारा गोमती नदी, जनपद मैनपुरी, इटावा की नदियों को मशीनों के माध्यम से गहरा कराया गया। वर्तमान में इन नदियों से बाढ़ का खतरा कम हो गया है।  मन्त्री ने पीडब्ल्यूडी, सिंचाई निर्माण खण्ड, ड्रेनेज खण्ड के अधिशासी अभियन्ताओं को निर्देश दिया कि अपने-अपने विभागों की परियोजना का आगणन बनाकर शासन से धनराशि प्राप्त करने के लिए नवम्बर माह के अन्त तक प्रेषित कर दे जिससे फरवरी माह में परियोजना को स्वीकृति कर धनराशि अवमुक्त की जा सके। बैठक के पश्चात मन्त्री जी द्वारा मीडिया प्रतिनिधियों से जनपद में आये बाढ़ एवं उसके बचाव कार्य हेतु अधिकारियों को दिये गये निर्देशों, राहत सामग्री वितरण एवं अन्य बचाव कार्य हेतु जानकारी दी गयी।


इस अवसर पर विधायक कपिलवस्तु विजय पासवान, जिला पंचायत अधयक्ष प्रतिनिधि चिन्कू यादव, जिला अध्यक्ष समाजवादी पार्टी अजय चौधरी, पूर्व जिलाध्यक्ष रामचन्दर यादव, राज्य महिला आयोग की सदस्य सुश्री जुबैदा चौधरी, सपा नेता कामता यादव, सुखराज यादव, वीरेन्द्र तिवारी, जगराम यादव, सोनू यादव, खुर्शीद अहमद, गुलाम नबी आजाद, ताकीब रिजवी तथा समस्त जनप्रतिनिधिगणो की उपस्थिति रही। इसके अलावा जिलाधिकारी नरेन्द्र शंकर पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक महेन्द्र यादव, मुख्य विकास अधिकारी अखिलेश तिवारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजेन्द्र कपूर, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) पी.के.जैन, उप संचालक चकबन्दी/प्रभारी जिला सूचना अधिकारी आनन्द स्वरूप, अपर पुलिस अधीक्षक मंशाराम गौतम, उप जिलाधिकारी नौगढ़ योगानन्द पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी सदर मो. अकमल खान, अधिशासी अभियन्ता  ड्रेनेज खण्ड वी.पी. सिंह, अधिशासी अभियन्ता  प्रांतीय खंड  सीपी गुप्ता, इटवा भूपेश मणि, जल निगम पवन कुमार यादव, अधि.अभि. एन.एच., उपकृषि निदेशक डा. राजीव कुमार, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी ओमप्रकाश अंजोर तथा समस्त जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top