Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दलितों के राजा के अपमान पर चुप रही दलितों की देवी

 Sabahat Vijeta |  2016-09-16 12:25:15.0

amit_shah
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में हुए दलित सम्मेलन में भाजपा नेताओं ने कहा कि दलित सम्मान के लिये जितना काम भाजपा सरकार ने किया है किसी भी सरकार ने नहीं किया. यह सम्मेलन बसपा छोड़कर भाजपा में आये दलितों का सम्मेलन था.


दलित सम्मेलन में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा कहते हैं कि वह दलितों के साथ हैं. मायावती चिल्ला रही हैं कि वह दलितों के साथ हैं लेकिन दलित सम्मान के लिये सबसे ज्यादा काम नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया. नरेन्द्र मोदी ने लन्दन की ज़मीन पर बाबा साहब का स्मारक बनाने का काम किया. मोदी ने 1200 करोड़ में बाबा साहब का समाधि स्थल बनवाया. यह काम कांग्रेस, सपा और बसपा ने नहीं किया.


उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के नाना ने तो 1953 में बाबा साहब को हटाने का काम किया था. जबकि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने संसद भवन में बाबा साहब का तैल चित्र लगवाया. बाबा साहब को भारत रत्न दिलवाया. नरेन्द्र मोदी ने बाबा साहब की स्मृति में सिक्का भी निकाला और टिकट भी जारी किया. कांग्रेस, सपा और बसपा ने तो सिर्फ शासन करने का काम किया. मनमोहन और सोनिया की सरकार की बैसाखी सपा और बसपा रही हैं. फिर किस मुंह से सपा-बसपा दलित समर्थक होने का दावा करती हैं. उन्होंने कहा कि जिन गरीबों और दलितों को कभी बैंक में घुसने को नहीं मिला था. उन गरीबों के तीन करोड़ अकाउंट मोदी सरकार ने खुलवाये. मोदी ने स्वच्छता के अभियान को गौरव दिलवाया.


भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि मायावती को जिन्होंने सत्ता तक पहुँचाया उन्हें ही मायावती पार्टी से निकाल देती हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में इस समय भू-माफियाओं की सरकार है. उन्होंने कहा कि आज़म खां ने गाज़ियाबाद में बाबा साहब का अपमान किया. उनके बाद सीएम बोले लेकिन आज़म के बारे में कुछ नहीं किया. मायावती जो खुद को दलितों की देवी कहती हैं उन्होंने आज़म और अखिलेश के खिलाफ बाबा साहब के मुद्दे पर कोई क़दम नहीं उठाया जबकि बाबा साहब तो दलितों के राजा हैं.


केशव मौर्या ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी बाबा साहब और दलितों के सम्मान के लिए संघर्ष करेगी. आज़म खां की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी तक संघर्ष करेगी. बसपा सुप्रीमो मायावती पर तंज़ करते हुए कहा कि 2017 का चुनाव अखिलेश के काम पर होना है लेकिन मायावती अखिलेश के बजाय नरेन्द्र मोदी के काम का हिसाब मांगने में लगी हैं जबकि नरेन्द्र मोदी के काम का हिसाब 2019 में माँगा जाना चाहिये. उन्होंने कहा कि मायावती जनता को बेवकूफ समझती हैं और यही जनता उन्हें चुनाव में सबक सिखाएगी. मायावती को अपने ड्रामे का 2017 में जवाब मिलेगा.


सम्मेलन में पूर्व सांसद जुगल किशोर ने कहा कि बाबा साहब के सपनों को पूरा करने का काम नरेन्द्र मोदी ने किया है. सम्मेलन में मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर, बृजेश पाठक, डॉ. दिनेश शर्मा, राम नरेश रावत, स्वतंत्र देव पटेल, विद्या शंकर सोनकर, विजय बहादुर पाठक, राम चन्द्र प्रधान और दिवाकर सेठ भी मौजूद थे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top