Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

देश की सर्वश्रेष्ठ फिल्म नीति के लिए यूपी को मिला ‘इण्टरनेशनल बिज़नेस अवाॅर्ड-2016’

 Sabahat Vijeta |  2016-09-25 11:21:02.0


award-up-film
लखनऊ. देश की सर्वश्रेष्ठ फिल्म नीति के लिये उत्तर प्रदेश को ‘इण्टरनेशनल बिज़नेस अवाॅर्ड-2016’ से सम्मानित किया गया है। यह अवाॅर्ड तेलंगाना स्थित रामोजी फिल्म सिटी में आयोजित ‘इण्डीवुड फिल्म कार्निवाल’ के दौरान दिया गया। यह कार्निवाल 24 सितम्बर से 27 सितम्बर, 2016 तक आयोजित किया जा रहा है।


यह जानकारी देते हुए आज यहां राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को यह पुरस्कार प्राप्त करने के लिए आमंत्रित किया गया था, लेकिन उनकी व्यस्तता के कारण प्रदेश सरकार के नामित प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों, उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी, सदस्य विशाल कपूर, यश राज सिंह, हर्षवर्धन अग्रवाल तथा फिल्म बन्धु के संयुक्त सचिव दिनेश कुमार सहगल द्वारा यह पुरस्कार प्राप्त किया गया।


प्रवक्ता ने बताया कि इण्डीवुड फिल्म कार्निवाल का उद्घाटन तेलंगाना सरकार के सिनेमेट्रोग्राफी मंत्री श्रीनिवास यादव ने किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार की फिल्म नीति के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सराहना की तथा उन्हें हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं भी दी। उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में राज्य की फिल्म नीति की बारीकियों को विस्तार से बताते हुए कहा कि समाजवादी सरकार हिन्दी, भोजपुरी, अवधी, बुन्देली के अलावा अंग्रेजी, मराठी, तेलगू आदि फिल्मों को भी सब्सिडी दिए जाने का प्राविधान शीघ्र ही करने जा रही है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित फिल्मकारों को राज्य में फिल्म निर्माण के लिए आमंत्रित भी किया।


इस मौके पर फिल्म सिटी के संस्थापक रामोजी राव, इण्डीवुड फिल्म कार्निवाल के संस्थापक सोहन राय तथा बड़ी संख्या में बाॅलीवुड तथा हाॅलीवुड के निर्माता, निर्देशक तथा कलाकार उपस्थित थे।


ज्ञातव्य है कि प्रदेश सरकार की फिल्म नीति को 63वें राष्ट्रीय फिल्म समारोह में राष्ट्रपति द्वारा ‘मोस्ट फिल्म फ्रेेन्डली स्टेट अवाॅर्ड’ के तहत स्पेशल मेंशन सर्टिफिकेट सहित अनेक पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में निर्मित होने वाली फिल्मों को आवश्यक औपचारिकताएं पूर्ण करने पर अधिकतम 3.75 करोड़ (तीन करोड़ पचहत्तर लाख) रुपये तक अनुदान, प्रदेश के कलाकारों के लिए स्पेशल इन्सेंटिव, प्रदेश में फिल्म प्रोडक्शन एवं पोस्ट प्रोडक्शन कराये जाने पर अतिरिक्त अनुदान सहित प्रदेश के युवा कलाकारों को अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए एफटीआई पुणे एवं सत्यजीत रे फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान, कोलकाता में प्रशिक्षण हेतु छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top