Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

LIVE : परिवार की आमदनी बढ़ेगी तो देश भी तरक्की करेगा : मोदी

 Sabahat Vijeta |  2016-08-06 12:31:36.0

modi_cabinet_iims_gorakhpur


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज इंदिरा गांधी स्टेडियम में अपनी सरकार के दो साल का लेखा-जोखा पेश करते हुए कहा कि सामान्य नागरिकों को कोई भी जानकारी आसानी से मिल जाए ऐसा माहौल डेवलप करने की कोशिश कर रहे हैं.


उन्होंने कहा कि गुड गवर्नेंस और टेक्नालाजी के ज़रिये किसान अपनी फसल का दाम खुद तय करेगा. उन्होंने सवाल उठाया कि क्या सरकार जनता की आवाज़ सुनती है और अगर सुनती है तो कितना रिस्पांस करती है. उन्होंने कहा कि सरकारी व्यवस्था में जनता की आवाज़ सूनी जानी चाहिए. इस मुद्दे पर मैं पूरी नज़र रखता हूँ. सभी राज्यों के मुख्य सचिवों से भी पूछता रहता हूँ.


प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका पूरा ध्यान गुड गवर्नेंस पर है. दुनिया के देशों में भारत सबसे तेज़ रफ़्तार में बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था वाला देश है. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में मंदी का दौर चल रहा है. परचेजिंग पावर घट रही है. ऐसे में भी अर्थव्यवस्था में 7.2 परसेंट पर खड़े होना देश को बधाई देने वाली बात है.


उन्होंने कहा कि जिस परिवार का मुखिया बीस हज़ार रूपये कमाता है तो यह तय करना मुश्किल होती है कि घर का खर्च कैसे चलाना है. बच्चों के कपड़े कैसे बनाए जाएँ लेकिन अगर परिवार के एक और सदस्य की आमदनी दस हज़ार रूपये हो जाए तो परिवार को चलाना आसान हो जायेगा. यही स्थिति देश की भी है. देश की आमदनी बढ़ेगी तो देश आसानी से चलेगा.


प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के पर्यटन को बढ़ावा देना बहुत ज़रूरी है. पर्यटन बढ़ेगा तो देश की अर्थव्यवस्था को तो फायदा पहुंचेगा ही साथ ही ज्यादा लोगों को रोज़गार भी मिलेगा. इसी तरह से देश में बनी चीज़ें दूसरे देशों में निर्यात होने लगेंगी तो देश को उसका भी लाभ मिलेगा.


प्रधानमंत्री ने कहा कि नागरिक बीमार होते हैं तो परिवार का तो नुकसान होता ही है देश का भी नुकसान होता है. उन्होंने कहा कि अगर देश में स्वास्थ्य पर ध्यान देने की परम्परा बना ली जाए तो ज्यादा लोग स्वास्थ्य रह सकते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार स्वास्थ्य बीमा पर ख़ास ध्यान दे रही है ताकि आम लोगों के स्वास्थ्य पर नज़र रखी जा सके.


देश के विभिन्न हिस्सों से लोगों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सवाल पूछे. प्रधानमंत्री ने सभी सवालों के जवाब दिए. प्रधानमंत्री के सामने यह सवाल आया कि क्या वजह है कि किसान का बेटा किसान ही बनता है और जो दिक्कतें बाप ने झेलीं वही बेटा भी झेलता है. उन्होंने कहा कि किसान का बेटा भी दूसरे सेक्टर में जाए सरकार इस दिशा में काम कर रही है लेकिन जो बेटा किसानी में जा रहा है वह यह जान ले कि देश की अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा देश में खेती से ही आता है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top