Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सच्चर कमेटी की तर्ज़ पर शिया समस्याओं के लिए कमीशन बने

 Sabahat Vijeta |  2016-09-22 10:26:36.0

nikahnama


तहलका न्यूज़ ब्यूरो 


लखनऊ. आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड की कार्यकारिणी की बैठक में पास किये गये प्रस्ताव में भारत सरकार से दहशतगर्दी रोकने के लिए ज़रूरी क़दम उठाने की बात कही गई. है. बोर्ड ने हाल ही में फ़ौज के हेड क्वार्टर पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की. शिया पर्सनल लॉ बोर्ड में आज यह प्रस्ताव भी पारित किया कि भारत सरकार सच्चर कमेटी की तर्ज़ पर शिया मुसलमानों की समस्याओं के हल के लिए एक कमेटी का गठन करे और यह कमेटी जो सिफारिशें करे उसे लागू किया जाये.


सुल्तानुल मदारिस में हुई आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में यह प्रस्ताव भी पास किया गया कि जिन राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं उन राज्यों में रहने वाले शिया मुसलमानों के बारे में सरकार की क्या योजना है यह बताया जाये.


बोर्ड ने आम सहमति से यह प्रस्ताव पास किया कि सुप्रीम कोर्ट में सायरा बानो की तरफ से तीन तलाक़ मामले में दायर केस में आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड जाफरी फिका के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में अपना द्रष्टिकोण पेश करेगा.


आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना मिर्ज़ा मोहम्मद अशफाक ने इस मौके पर कहा कि जिस तरह से साम्प्रदायिक दंगों में फिरकों की बात पीछे छूट जाती है और सिर्फ हिन्दू-मुसलमान की बात की जाती है उसी तरह से हर ज़ुल्म से निबटने के लिए मुसलमानों को शिया, सुन्नी, बरेलवी, देवबंदी से ऊपर उठाना पड़ेगा.


मौलाना अशफाक ने कहा कि इस्लाम में सबसे बड़ी चीज़ नमाज़ है. सारी चीज़ें नमाज़ के बाद शुरू होती हैं इसलिए हर मुसलमान को नमाज़ के करीब जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि तीन तलाक़ मुद्दे पर चल रही बहस के मामले में भी सभी मुसलमानों को साथ बैठकर इसका सर्वमान्य हल खोजना चाहिए.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top