Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

वायु सैनिकों के एयर शो ने जीत लिया दिल

 Sabahat Vijeta |  2016-11-02 16:36:13.0

लखनऊ स्थित वायु सेना दिवस के अवसर पर बक्शी का तालाब स्थित एयर फोर्स स्टेशन में आयोजित एयरोबैटिक डिस्पले का अवलोकन करने जाते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बच्चे व अधिकारियो के साथ खड़े राज्यपाल राम नाईक ।

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ, भारतीय वायु सेना की 84वीं वर्षगाँठ समारोह के तहत वायु सेना स्टेशन बक्शी का तालाब में आज एक रोमांचक ‘एयर शो’ में जांबाज़ वायु सैनिकों ने हैरतअंगेज एवं साहसिक प्रदर्शन किये. यूपी के गवर्नर राम नाइक भी इस मौके पर मौजूद थे.


मध्य वायु कमान के वायु सेनाध्यक्ष एयर मार्शल एसबीपी सिन्हा सहित वायु सेना स्टेशन बीकेटी के स्टेशन कमांडर ग्रुप कैप्टन तरूण चौधरी, स्टेशन के वरिष्ठ वायु सैन्यधिकारी एवं सिविल गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे.


कई साल बाद लखनऊ में आयोजित हुए इस एयर शो के दौरान वायु सेना के एयरोबेटिक टीम द्वारा साहसिक एवं हैरतअंगेज हवाई करतब प्रदर्शित किये गये. जिसमें आकाश गंगा, सूर्यकिरण एवं सारंग का साहसिक प्रदर्शन देखने को मिला.


hailicopter


इनके अतिरिक्त मिग-21 तथा सुखोई-30 एमकेआई जो कि भारतीय वायु सेना के अत्याधुनिक लड़ाकू एयरक्राफ्ट है, ने अपने हैरतअंगेज कारनामों से सभी को आकर्षित किया. इस एयर शो के आयोजन का उद्देश्य शहर के युवाओं को भारतीय वायु सेना में शामिल होकर अपने बेहतर कॅरियर के रूप में राष्ट्र सेवा का अवसर प्रदान करने के लिए प्रेरित करना है.


आकाशगंगा भारतीय वायु सेना की एक 14 सदस्यीय स्काइ डाईविंग टीम है जिसे वर्ष 1987 में गठित किया गया था। पैराटूपर्स ट्रेनिंग स्कूल के पैरा इंस्ट्क्टर्स हैरतअंगेज हवाई करतब के लिए पूरी तरह समर्पित एवं कौशल प्राप्त हैं. आकाशगंगा वर्षों से अपने हैरतंगेज़ हवाई प्रदर्शन के लिए देश एवं दुनिया में लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र रही है. इस क्षेत्र में यह टीम विश्व के प्रतिष्ठित टीमों में से एक है.


सूर्य किरण एयरोबेटिक टीम ने विश्व की एक कौशलप्राप्त फार्मेशन एयरोबेटिक टीम है जो दुनिया भर में 500 से अधिक साहसिक हवाई प्रदर्शन कर चुकी है. वर्षों से ‘सूर्य किरण’ भारतीय वायु सेना की ‘अम्बेस्डर’ है. इस टीम के जाबांज वायु सैनिक न केवल अपने साहसिक प्रदर्शनों से भारतीय वायु क्षमता को उजागर करते हैं बल्कि वे देश के युवाओं को भारतीय वायु सेना में शामिल होकर अपने बेहतर कॅरियर बनाने के लिए प्रेरित करते हैं.


air-show


सारंग हेलिकॉप्टर साहसिक प्रदर्शन टीम का नाम एडवांस लाइट हेलिकॉप्टर ‘ध्रुव’ के विकसित होने एवं भारतीय वायु सेना में शामिल होने के बाद पड़ा. भारतीय वायु सेना के ब्रांड अंबेस्डर के रूप में इस टीम ने दर्शकों एवं उड्डयन उद्योग के लिए पसंदीदा रही है. सारंग टीम ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एयर शो का प्रदर्शन किया है जिसमें सिंगापुर, चिली, यूनाईटेड अरब अमिरात, यूके एवं बहरीन शामिल है. इस टीम को यूएई में एयर शो प्रदर्शन में ‘थर्ड बेस्ट टीम’ घोषित किया गया जबकि बर्लिन एयर शो के लिए इस टीम को ‘बेस्ट लुकिंग क्लोज फार्मेशन एयरोबेटिक टीम’ का खिताब दिया गया.


gov-air-show


भारतीय वायु सेना के मध्य वायु कमान की स्थापना वर्ष 1962 में की गई थी जिसके अंतर्गत आनेवाले वृहद परिक्षेत्रों में बिहार, छत्तीसग- झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश शामिल हैं. इस वायु कमान ने 1965 एवं 1971 में भारत-पाक युद्ध सहित वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध में भी अपनी अहम् भूमिका निभाई थी. मध्य वायु कमान ने भूकंप सहित अन्य प्राकृतिक आपदाओं में मानवीय सहायता उपलब्ध कराने में अग्रणी भूमिका निभाई है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top