Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बाल प्रतिभाओं के प्रोत्साहन की प्रभावी योजना बने

 Sabahat Vijeta |  2016-10-03 14:22:24.0

gov-bal-kalyan

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक की अध्यक्षता में आज राजभवन में उत्तर प्रदेश बाल कल्याण परिषद कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गयी। राज्यपाल ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि ऐसी सभी संस्थायें जिनके अध्यक्ष राज्यपाल होते हैं उनमें व्यापक गतिशीलता आनी चाहिए। लोगों को लगे कि संस्थाएं कुछ काम रही हैं। उत्तर प्रदेश बाल कल्याण परिषद बाल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने की दृष्टि से प्रभावी योजना बनाकर कार्य करें। युवाओं को जोड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि परिषद अपनी समस्याओं को लेकर विस्तार से उन्हें प्रत्यावेदन प्रस्तुत करें जिससे कि केन्द्र एवं राज्य सरकार के स्तर पर लम्बित मामलों में उचित कार्यवाही अध्यक्ष के स्तर से की जा सके।


कार्यकारिणी की बैठक में उत्तर प्रदेश बाल कल्याण परिषद की वार्षिक आख्या-2016 प्रस्तुत की गयी तथा आगामी वित्तीय वर्ष का अनुमानित बजट भी पेश किया गया। परिषद की महासचिव श्रीमती रीता सिंह बताया गया कि परिषद द्वारा संचालित 13 आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केन्द्रों में 4,124 व्यक्तियों को प्रशिक्षण दिया गया तथा 430 बाल विहार केन्द्रों के माध्यम से 10,750 बच्चों को शिक्षा हेतु सहायता प्रदान की गयी। परिषद के दत्तक केन्द्र से 14 बच्चों को गोद लिया गया जिसमें 2 बालिकाओं को देश में तथा 3 बालिकाओं को विदेश में गोद लिया गया है। उत्तर प्रदेश बाल कल्याण परिषद द्वारा संचालित बालगृह, वृद्ध एवं निराश्रित महिलाश्रम, होम्योपैथी चिकित्सालय के कार्याें की बैठक में प्रशंसा की गयी। परिषद द्वारा अन्धता निवारण कैम्प लगवाकर 1,240 मोतिया बिन्द के मरीजों का इलाज किया गया, 2 बच्चों (1 मरणोपरान्त) को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया तथा 14 बच्चों को छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत शिक्षा हेतु सहायता प्रदान की गयी। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश बाल कल्याण परिषद द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति घटित होने वाले अपराधों सहित अन्य विषयों पर शिविरों का भी आयोजन किया गया। बैठक में पूर्व में हुई कार्यकारिणी समिति की बैठक के कार्यवृत्त का अनुमोदन किया गया।


बैठक में राज्यपाल की सचिव चन्द्र प्रकाश सहित श्रीमती उज्जवला कुमारी चेयरमैन, श्रीमती रीता सिंह महासचिव, विशेष सचिव वन अशोक कुमार, डाॅ. एस.एस. डंग सहित अन्य जनपदों से आये परिषद के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top