Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी के माइनॉरिटी टैलेंट को भी मिलेगा फिल्मों में मौका

 Girish Tiwari |  2016-08-09 09:12:23.0

Vishal Kapoor, Maulana Farangi Mahali, Lucknow, Uttar Pradesh Film Development Council, Minority, Talent, Bollywood तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. फिल्म जगत में अपने काम के दम पर यूपी का परचम बुलन्द करने वाले नौशाद , कमाल अमरोही नसीरूद्दीन शाह  आदि के सूबे में अब एक ऐसी पहल होने जा रही है जिसके बाद उत्तर प्रदेश का झंडा एक बार फिर से बालीवुड बुलन्द हो सकेगा।

इसके लिए यूपी फिल्म डेवलपमेंट काउंसिल एक ऐसी योजना पर विचार कर रहा है जिससे कि अल्पसंख्यकों को फिल्म निर्माण से जुडे क्षेत्रों से जोडा जा सके। इससे अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे। एक पहल के तहत सूबे के अल्पसंख्यक वर्ग के बच्चों तथा युवाओं को मीडिया एवं फिल्म जगत के क्षेत्र में मौजूद अवसरों से रूबरू कराया जा सकता है।


सीएम  अखिलेश यादव के विजन के अनुरूप फिल्म निर्माण क्षेत्र को प्रोत्साहन के लिए सतत रूप से प्रयासरत यूपी फिल्म डेवलपमेंट काउंसिल के मेम्बर विशाल कपूर ने ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली से  इस मसले पर चर्चा करने के साथ ही उनकी राय भी मांगी है।

विशाल कपूर ने मुलाकात में कहा कि जो परदे पर दिखता है केवल वह ही फिल्म नहीं है बल्कि फिल्म से जुडे तमाम अन्य पहलू  भी है जो उतने ही महत्वपूर्ण है। उनका कहना था कि आज के इस आधुनिक युग में नौजवान व बच्चे बड़े सपने देखने के साथ ही नए क्षेत्रो में भविष्य बनाना चाहते हैं। इसको देखते हुए यह सोंचा गया कि अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चों व नौजवानों को फिल्म  निर्माण से जुडे क्षेत्रों की जानकारी उपलब्ध कराई जाए जिससे कि वे इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाकर नाम और रोजगार पा सकें। इससे सीएम अखिलेश यादव की अल्पसंख्यकों के उत्थान व कल्याण  की प्रतिबद्धता को नया आयाम देते हुए मूर्त रूप दिया जा सकेगा।

साथ ही डिजिटल मीडिया के जरिए सपा सरकार के विकास कार्यों और अल्पसंख्यकों के लिए आरंभ की गई योजनाओं को नौजवानों को दिखाया भी जाएगा। मुलाकात के दौरान मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने श्री कपूर की बात से सहमति जताते हुए कहा कि यह सच है कि आज के दौर के युवा डाईवर्सिफि केशन को पसंद करते हैं।  वे डाईवर्सीफाईड फील्ड में  अपना भविष्य तलाशने की कोशिश भी करते हैं। ऐसे में यह एक बेहतर प्रस्ताव हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस पर वे समुदाय के लोगों के साथ चर्चा करने के बाद अपनी राय व मशविरा देंगे। उनका कहना था कि इस पूरी पहल को किस रूप में जमीन पर उतारा जाएगा इसका रोड मैप भी तैयार किया जाना चाहिए। श्री कपूर ने उन्हे भरेासा दिया कि अल्पसंख्यकों  की  मान्यताओं और भावनाओं का सम्मान करते हुए ही इस दिशा में आगे बढ़ा जाएगा। उनका कहना था कि इस पहल का एक मात्र उद्देश्य अल्ख्संख्यक वर्ग के बच्चों और युवाओं के कल्याण का है। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व भी अल्पसंख्यक समुदाय से निकले तमाम लोगों ने इस जगत में बड़ी शोहरत हासिल करने के साथ ही सूबे का गौरव बढ़ाया है। सरकार की मंशा उनके हुनर और काबिलियत को तराशकर सफलता के नए मुकाम तक पहुचाने की है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top