Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

शरीयत और पर्सनल लॉ में दखल नहीं दे सकता सुप्रीम कोर्ट

 Sabahat Vijeta |  2016-04-16 12:41:03.0

ovaisiतहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ, 16 अप्रैल. आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की कार्यकारिणी की बैठक राजधानी लखनऊ के नदवतुल उलेमा (नदवा कालेज परिसर) में आज शनिवार को शुरू हुई. बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना सैय्यद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में शरीयत और पर्सनल लॉ से जुड़े मुसलमानों के पारिवारिक मामलों में सरकार और अदालतों की बढ़ती दखलंदाजी पर खासतौर पर मंथन किया जा रहा है. बैठक में आल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी शामिल होने के लिए लखनऊ आये हैं.




बीते दिनों कुछ मुस्लिम मसायल पर देश की सर्वोच्च अदालत ने सम्बंधित पक्षों को नोटिस जारी किये हैं. आल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड इन नोटिसों को शरीयत और पर्सनल ला के मामलों में दखलन्दाजी मान रहा है. बोर्ड का मानना है कि सरकारी अदालतें ऐसे मामलों में बगैर मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड का पक्ष सुने कोई फैसला नहीं कर सकतीं. इसलिए बोर्ड अब खुद एक पक्षकार के तौर पर सर्वोच्च न्यायालय में अपना पक्ष रखने की तैयारी कर रहा है.


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top