Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पूर्व BSP सांसद उमाकांत यादव की याचिका खारिज, नहीं लड़ सकेंगे यूपी चुनाव

 Abhishek Tripathi |  2016-07-04 07:47:36.0

umakant_yadavतहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली. पूर्व बीएसपी सांसद उमाकांत यादव को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को उमाकांत यादव की याचिका को खारिज कर दिया। याचिका में सजा को निलंबित करने की मांग की गई थी। बता दें कि यूपी के जौनपुर जिले में एक महिला की जमीन को फर्जी ढंग से बैनामा करने के मामले में कोर्ट ने उमाकांत को सात साल की सजा सुनाई थी।


उमाकांत यादव यूपी विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने याचिका खारिज कर उमाकांत को करारा झटका दे दिया है। बता दें कि जनप्रतिनिधि कानून के तहत उमाकांत को अयोग्य करार दिया गया था। वहीं, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उमाकांत यूपी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।


तीन बार रह चुके हैं विधायक
उमाकांत तीन बार विधायक और एक बार सांसद रह चुके हैं। वे यूपी में विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं जिसके लिए कोर्ट से सात साल के कारावास और जुर्माने की सजा (दोषसिद्धि) निलंबित करने की मांग कर रहे थे।


6 साल की सजा काट चुके हैं
उमाकांत को जमीन के फर्जीवाड़े में जौनपुर की निचली अदालत ने सात साल की सजा सुनवाई है। जिसमें से वे 6 साल 2 महीने की सजा काट चुके हैं। उमाकांत यादव पर आरोप है कि जौनपुर के खुटहन थाना क्षेत्र के दौलतपुर पिलकिछा गांव की एक महिला की जमीन उन्होंने फर्जीवाड़ा करके अपने नाम करा ली थी। जमीन की मालकिन महिला ने वर्ष 2006 में उमाकांत के मामला दर्ज कराया। जिसमें ट्रायल के बाद अदालत ने उन्हें सात साल के कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top