Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

खेल में जीत-हार का नहीं भावना का महत्व है : राज्यपाल

 shabahat |  2017-01-29 16:48:14.0

खेल में जीत-हार का नहीं भावना का महत्व है : राज्यपाल


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज के.डी. सिंह बाबू स्टेडियम में सुपर स्पोर्टस सोसायटी द्वारा आयोजित अखिल भारतीय फुटबाल टूर्नामेंट के फाइनल मैच का उद्घाटन किया. फाइनल मैच ओएनजीसी और बीएसएफ के बीच खेला गया. इस अवसर पर श्रीमती पूर्णिमा सिंह, राजा बोस, नागेन्द्र सिंह, बृजेश मिश्रा, जगदीश गांधी, प्रभुजोत सिंह सहित बड़ी संख्या में खेल प्रेमीजन उपस्थित थे. राज्यपाल ने मैच का उद्घाटन फुटबाल में किक लगाकर किया तथा खिलाड़ियों से परिचय भी प्राप्त किया.

राज्यपाल ने उद्घाटन सत्र में अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि लखनऊ एक ऐसा शहर है जहाँ अनेक प्रकार के आयोजन निरन्तर होते रहते हैं. इससे पूर्व जूनियर हाॅकी वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ तथा सैय्यद मोदी इण्टरनेशनल बैडमिंटन चैम्पियनशिप चल रही है और साथ ही साथ सुपर स्पोर्टस सोसायटी द्वारा फुटबाल प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि खेल के साथ-साथ लखनऊ में अनेक सांस्कृतिक एवं साहित्यिक कार्यक्रम भी बराबर आयोजित किये जाते हैं.

श्री नाईक ने कहा कि जब वे पेट्रोलियम मंत्री थे तो उन्होंने इण्डियन आयल कारपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और गैस अथारिटी आफ इण्डिया को कहा था कि अपने मुनाफे में से कुछ अंश खेल को प्रोत्साहित करनेे में सहयोग करें. खेल में जीत और हार का उतना महत्व नहीं है जितना खेल की सच्ची भावना और लगन से उसमें भाग लेने का है. उन्होंने कहा कि खेल से शरीर और बुद्धि का विकास होता है तथा आपस में सौहार्द का वातावरण भी बनता है. इस अवसर पर श्रीमती पूर्णिमा सिंह, राजा बोस एवं बृजेश मिश्रा ने भी अपने विचार रखे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top