Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सपा का हाई वोल्टेज ड्रामा सड़क पर आ गया : भाजपा

 Sabahat Vijeta |  2016-09-17 15:23:36.0

bjplogo


लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि समाजवादी पार्टी एवं अखिलेश सरकार का हाई वोल्टेज ड्रामा आज सड़क पर आ गया है और यह कानून व्यवस्था के लिए चुनौती बन गया है.


उन्होंने कहा कि खुलेआम समाजवादी पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता ‘‘सड़क पर उतर कर आग लगाने की धमकी‘‘ देकर प्रदेश की कानून व्यवस्था को ललकार रहे हैं. सत्ता और स्वार्थ की लड़ाई में सरकार के संरक्षण में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अराजकता पर उतारू हैं. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के पास गृह मंत्रालय भी है. कानून व्यवस्था तोड़ने वालों पर तत्काल कार्यवाही होनी चाहिए.


केशव मौर्या ने कहा कि पिछले चार-पांच दिनों में सत्ता के लिए वर्चस्व की लड़ाई में जीता कोई भी हो लेकिन हारा लोकतंत्र है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने पद की संवैधानिक मार्यादा को तार-तार, और पद की प्रतिष्ठा को धूमिल कर दिया है.


मुख्यमंत्री अपने मंत्रिमण्डल में हो रही उठा-पटक के लिए बाहरी व्यक्ति को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने जब शपथ ली थी तो कहा होगा ‘‘राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में जो विषय मेरे बिचार के लिए लाया जाएगा अथवा मुझे ज्ञात होगा उसे किसी व्यक्ति या व्यक्तियों को, तब के सिवाय जबकि ऐसे मंत्री के रूप में अपने कर्तव्यों के सम्यक निर्वहन के लिए ऐसा करना अपेक्षित हो, मैं प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से संसूचित या प्रकट नहीं करूँगा.‘‘


आपने बाहरी व्यक्ति को मंत्रिमण्डल के परिवर्तन में भूमिका को बताकर संविधान और ईश्वर को साक्षी मानकर ली गई शपथ की मर्यादा को तोड़ने का काम किया है. यदि संवैधानिक पद पर बैठा व्यक्ति स्वयं विवेक से निर्णय नहीं कर सकता तो वह उस पद का दायित्व निर्वहन के काबिल नहीं है. अखिलेश यादव आजाद भारत के सबसे असफल मुख्यमंत्री साबिज हुए हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री तत्काल विधानसभा भंग कर चुनाव कराएं या पद से इस्तीफा दें.


एक व्यक्तिगत टिप्पणी को लेकर एक प्रतिष्ठित दैनिक समाचार पत्र के कार्यालय पर हल्ला बोलने का निर्देश देने वाली बसपा सुप्रीमों मायावती राजनीतिक फायदे के लिए बाबा साहब अम्बेडकर का नाम तो लेती हैं लेकिन उन पर अमर्यादित ढ़ग से आजम खांन द्वारा टिप्पणी करने पर मौन साधे रहती है, आखिर में चुप्पी क्यों?


भाजपा द्वारा आयोजित मानवता सद्भाव समारोह जो कि भारत रत्न डाॅ. भीम राव अम्बेडकर के प्रति सपा के कबीना मंत्री आजम खान द्वारा अशोभनीय टिप्पणी के विरोध में थी, पर सुश्री मायावती ने त्वरित प्रतिक्रिया व्यक्त की. किन्तु बाबा साहब के खिलाफ टिप्पणी करने वाले आॅजम खान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करने में देरी क्यों ?

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top