Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इलाहाबाद में सपा नेता की दबंगई सरकार के मुँह पर तमाचा: मायावती

 Girish Tiwari |  2016-12-15 13:13:20.0

mayawati

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रदेश की सपा सरकार द्वारा अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिये पुलिस प्रशासन को जातिवादी व निष्क्रिय एवं निष्प्रभावी बना देने का आरोप लगाते हुये कहा कि बहु-प्रचारित हाई-फाई यू.पी.-100 का लाभ आमजनता को कैसे मिल सकता है जब सरकारी संरक्षण में यहाँ हर तरफ व हर मामले में अराजक व जंगलराज है।


मायावती ने आज यहाँ जारी एक बयान में कहा कि उत्तर प्रदेश सपा सरकार के मुखिया आये दिन कानून-व्यवस्था व विकास के सम्बन्ध में बड़ी-बड़ी व हवा-हवाई बातें करते रहते हैं, परन्तु प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में यह सर्वविदित है कि इस बार जबसे सपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है तब से लेकर अब तक के शासनकाल में उत्तर प्रदेश में हर स्तर पर कानून का राज नहीं बल्कि गुण्डों, बदमाशों, माफियाओं, अपराधिक, अराजक, साम्प्रदायिक व भ्रष्ट तत्वों का ही ‘‘जंगलराज‘‘ चल रहा है।


जिस कारण हत्या, डकैती, लूटमार, फिरौती, अपहरण, महिला उत्पीड़न, गुण्डा टैक्स, सरकारी व गैर-सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे, साम्प्रदायिक दंगे व तनाव की वारदातें चरमसीमा पर हैं और प्रदेश की लगभग 22 करोड़ की विशाल आबादी भय व आतंक के साये में लगातार जीने को मजबूर हैं।


इतना ही नहीं बल्कि इसी आतंक व भय के माहौल के साथ-साथ सरकारी संरक्षण में व सरकार के मिलीभगत के कारण भीषण मुजफ्फरनगर दंगा, दादरी काण्ड, मथुरा व बुलन्दशहर आदि काण्ड हुआ तथा आये दिन सपा के नेताओं की गुण्डई व दबंगई के काले कारनामों से अख़बारों के पन्ने भरे पड़े रहते हैं।


इस सम्बन्ध में आज ही जब सपा सरकार के मुखिया द्वारा ’यू.पी.-100’ की आपातकालीन प्रबन्ध प्रणाली के जरिये 20 मिनट के भीतर पुलिस को वारदात स्थल पर पहुँचाने की हाई-फाई व्यवस्था का प्रचार सरकारी विज्ञापनों के माध्यम से कराया जा रहा है तो इलाहाबाद में एक प्रमुख सपा नेता व पूर्व सांसद की दबंगई व गुण्डई के काले कारनामें से सम्बंधित अखबारों में मोटी सुर्खियों में खबरें इस सपा सरकार के मुँह पर तमाचा मारने के रूप में काम कर रही हैं।


ऐसी स्थिति में यही कहा जा सकता है कि सपा सरकार के मुखिया में यदि थोड़ी भी हिम्मत है व जनहित की परवाह है तो कानून-व्यवस्था का सम्मान करते हुये वे पुलिस व्यवस्था को हाई-फाई बनाने की नाटकबाजी के साथ-साथ अपनी पार्टी के गुण्डों, बदमाशों, माफियाओं, अराजक, साम्प्रदायिक व अन्य अपराधिक तत्वों को जेलों की सलाखों के पीछे भेजे, ताकि इस सपा सरकार में सरकारी संरक्षण में खुलेआम घूम रहे अपराधिक तत्वों के आतंक से यहाँ जनता में मची त्राहि-त्राहि में थोड़ी कमी आ सके।


इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सपा सरकार के बबुआ मुख्यमंत्री ने आज फिर अपने ‘‘बी.बी.सी. अर्थात बबुआ ब्राॅडकास्टिंग कारपोरेशन’’ के कार्यक्रम के तहत् बुदेलखण्ड में अपनी सरकार की घिसी-पिटी बातों को ही दोहराया, लेकिन जनता अब इनकी बातों के बहकावे में आने वाली नहीं है। इस मौके पर बी.एस.पी. सरकार द्वारा सम्बन्धित क्षेत्र के बीजेपी के कुछ लोगों के विरूद्ध की गई कार्यवाही पर वर्तमान सपा सरकार ने उनके केस वापिस लेकर, जो बीजेपी के प्रति अपनी सहानुभूति जताई है, तो इससे भी सपा व बीजेपी की अन्दरूणी मिली-भगत साफ नजर आती है। अतः मुस्लिम समाज के लोग सपा से सावधान रहें, इसके अलावा चुनाव के नजदीक कुछ ‘‘घोषणायें व शिलान्यास’’ आदि करना यह सब चुनावी हथकण्डे होते हैं, जिनसे प्रदेश की जनता जरूर सावधान रहे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top